देश में कोरोना महामारी से निपटने के लिए सरकारों द्वारा न जाने कितनी ही योजनाएं चलाई जा रही है। केंद्र सरकरा से लेकर राज्य सरकारों तक सभी अब तक ऐसी कई योजनाए लागू कर चुकी हैं, जो कोरोना की लड़ाई को मजबूत बना रही है। हाल ही में बाजार में एक योजना और जोर पकड़ती दिखाई दे रही है, जिसका नाम कोरोना सहायता योजना

बताया जा रहा है और यह दावा किया जा रहा है, कि इस योजना के जरिए हर व्यक्ति को 1000 रूपए की मदद पंहुचाई जाएगी।

साथ ही इस योजना के आवेदन के लिए फॉर्म भी भरवाए जा रहे हैं। यह योजना केंद्र सरकार द्वारा लागू की गई है, यह अफवाह बाजार में उड़ रही है। लेकिन क्या है Corona Sahayta Scheme Truth। क्या सच में ऐसी कोई योजना सरकार द्वारा चलाई जा रही है, या ये पूरी तरह फेक है। चलिए जानते हैं कोरोना सहायता योजना की सच्चाई।

WCHO Corona Sahayta Scheme Truth (Rs.1000)

ज्ञात हो की कोरोना वायरस के चलते राज्य सरकारे और केंद्र सरकार ने कई आर्थिक पैकेज समेत अलग अलग योजनाएं लागू की है, जिसमें लोगों को मुफ्त खाद्य सामग्री मुहैया कराने से लेकर जन धन खातों में पैसा डलवाने तक कई योजनाए हैं, उसी तरह लोग कोरोना सहायता योजना को भी सरकार की योजना माना जा रहा है। जबकि यह पूरी तरह झूठ है। केंद्र सरकार या राज्य सरकार द्वारा ऐसी कोई योजना नहीं चलाई जा रही है जिसमें 1000 रूपए देश के हर नागरिक के खाते में आएंगे। ना ही इसमे किसी तरह का आवेदन लिया जा रहा है, यह योजना पूरी तरह झूठ है।

WCHO कोरोना सहायता योजना कैसे फैली

इस योजना के बारे में लोगों को मैसेज के जरिए बताया जा रहा है। मैसेज फोन पर या व्हाट्सएप्प के जरिए ही वायरल हो रहा है। हालांकि अब तक यह पता नहीं लगाया जा सका है कि इस मैसेज को वायरल करने के पीछे कीं मंशा क्या है। ना ही अब तक यह पता चला है कि इस मैसेज की शुरूआती कड़ी कंहा है, यानी यह मैसेज आखिरी शुरू कंहा से हुआ।

क्या था मैसेज में और क्या सावधानी जरूरी। (कोरोना सहायता योजना 1000 रू)

कोरोना सहायता योजना के नाम से भ्रम फैलाने वाले इस मैसेज में यह दिया गया है कि कोरोना सहायता योजना WCHO फॉर्भ भरें और 1000 रू प्राप्त करें मुझे तो मिल गए अगर आप भी लेना चाहतें तो नीचे क्लिक करें और अभी प्राप्त करें1000 रूपए इसके बाद एक लिंक दिया गया है जिस पर क्लिक करके फॉर्म भरने की बात कही जा रही है। लिंक के बाद ‘WCHO की तरफ से जनहित में जारी

अगर आपके पास या आपके किसी दोस्त या रिश्तेदारों के पास इस तरह का मैसेज आता है, तो उन्हे इस मैसेज की सच्चाई से अवगत कराएं साथ ही कोरोना सहायता योजना की अफवाह को फैलने से रोकें। इस मैसेज की सच्चाई और इस फेक योजना का पर्दाफाश खुद प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो (पीआईबी) द्वारा किया है। पीआईबी के ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर इस मैसेज के स्क्रीन शॉर्ट शेयर कि इस योजना को फेक बताया है।

WCHO कोरोना Rs. 100 सहायता योजना के फॉर्म का सच

आपको बता दें कोरोना सहायता योजना के नाम से फैले इस मैसेज में जो लिंक दिया गया था, वह लिंक https://paymeurl.com/ का था। इस यूरएल से क्या होगा यह सवाल आपको परेशान कर रहा होगा, तो बता दें कि इसके जरिए आपकी सारी जानकारी हैकर तक पंहुच जाती है। इसके बाद ऐसा हो सकता है कि आपको बैंक खाते से वह सारी नकदी निकाल ली जाए जो आपने अपने बचत खाते में रखी हो।

HINDIYOJANA का सुझाव

ऐसे में बेहतर यह होगा कि आप इस तरह के किसी भी मैसेज या कॉल के झांसे में ना आएं, और जैसे ही इस तरह के मैसेज या कॉल आएं तो अपने नजदीकी पुलिस से्टेशन पर या कॉल के जरिए इसकी शिकायत जरूर दर्ज करें।

यह हैं कुछ योजनाएं जो अभी सरकार द्वारा चलाई गई हैं