उत्तराखंड गरीब कल्याण अन्न योजना, प्रत्येक पात्र व्यक्ति को निशुल्क पांच किलो चावल | Garib Kalyan Yojana Uttarakhand

कोरोना वायरस के चलते हुए 21 दिन के लॉकडाउन के चलते देश के गरीब लोगों को किसी तरह की कोई समस्या न हो। इसके लिए केंद्र सरकार द्वारा गरीब कल्याण योजना का ऐलान किया गया था। जिसमें देश के 80 करोड़ो लोगों के लिए बहुत से वादे किए गए थे। इस योजना की तरफ अब केंद्र सरकार ने एक कदम आगे बढ़ा लिया है।

बुधवार यानी 1 अप्रैल 2021 को उत्तराखंड के निवासियों के लिए गरीब कल्याण अन्न योजना को हरी झंडी दे दी है। इस योजना के तहत प्रदेश के लोगो को 5 किलो चावल मुफ्त वितरित किए जाएंगें। योजना का लााभ आपको कब से और कैसे मिलना शुरू होगा इसके लिए हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ें।

यह भी पढ़ें >> इस सूची नाम है तभी मिलेगा मुफ्त चावल

केंद्र सरकार के राहत बजट में है यह योजना

देश के ऐसे सभी लोगों तक सारी जरूरी वस्तुएं एंव सेवाएं पूरी तरह पहुंचती रहें इसके लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का ऐलान किया गया था। इस योजना के तहत सरकार ने 1.70 लाख करोड़़ का बजट बनाया था, जिसमें गरीबों समेत मध्य वर्गीय परिवारों का भी पूरा ध्यान रखा गया है। इस बजट में ही सब्सिडी योजना, बीमा योजना और गरीब कल्याण अन्न योजना समते कई दूसरी योजनाओं को शामिल किया गया था। इसी बजट के अंतर्गत अन्न योजना की ओर तेजी से काम होने लगा है।

READ
उत्तराखंड रोजगार कार्यालय में ऑनलाइन पंजीकरण करवाएं

उत्तराखंड में गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत मुफ्त चावल पाएं

क्या है गरीब कल्याण अन्न योजना

गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत देश के गरीब और निर्धन परिवारों अगले तीन माह यानी जून तक मुफ्त में अनाज दिया जाएगा। इसके अलावा देश के गरीब को प्रोटीन पूरी मात्रा में मिले इसके लिए एक किलों दाल भी गरीब परिवारों को उनके राशन कार्ड के आधार पर  दी जाएगी

गरीब कल्याण अन्न योजना की शुरूआत

देश में कोरोना की स्थिति से निपटने के लिए और हर घर तक खाद्य सामग्री पंहुचाने में सबसे अहम भूमिका भारतीय खाद्य निगम द्वारा ही अदा की जाएगी। जिसके लिए वह पूरी तरह मुस्तैद भी दिख रही है। गरीब कल्याण अन्न योजना को पूरी तरह कामयाब बनाने, हर घर खाद्य सामग्री पंहुचाने का काम शुरू हो चुका है, अप्रैल के शुरूआती दिनों में रेल की मालगाड़ी से साढ़े तीन टन अनाज विभिन्न राज्यों तक पहुंचा दिया गया है। जिसमें गेंहू और चावल दोनो शामिल हैं।

Uttarakhand Free Rice Scheme – उत्तराखंड गरीब कल्याण अन्न योजना

एफसीआई ने 24 मार्च 2021 से लेकर अब तक करीब 11 लाख टन अनाज की ढुलाई है। इस अनाज को अलग अलग राज्यों के एफसीआई गोदाम तक पहुंचाया जा चुका है। यंहा से यह अब पूरे राज्य में ट्रकों की मदद से आम राशन की दुकानों तक पंहुचाए जाएंगे

प्राथमिक/ अंत्योदय परिवारों के लिए उत्तराखंड सरकार ने लागू की गरीब कल्याण योजना

ज्ञात हो की 21 दिन के लॉकडाउन में देश के उस वर्ग की हालत सबसे ज्यादा खराब है, जो अपनी रोज की आय पर भी मात्र गुजारा ही कर पाते थे। ऐसे में उन सभी लोगों को पेट भर खाना मिल पाए इसलिए गरीब कल्यलाण अन्न योजना की शुरूआत की गई है।

READ
उत्तराखंड गौरा देवी कन्या धन योजना ऑनलाइन|Gaura Devi Kanya Dhan Yojana

यह भी पढ़ें >> क्या 14 अप्रैल के बाद लॉकडाउन हट जायेगा

उत्तराखंड में शुरू की गई अन्न योजना में प्राथमिक परिवार और अंत्योदय को भी शामिल किया गया है।  खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता विभाग के मुताबिक इस योजना का लाभ 54 लाख प्राथमिक परिवार और 7 लाख अंत्योदय परिवारों को मिलेगा। इस योजना की सबसे खास बात यह है कि परिवार के हर व्यक्ति को 5 किलो चावल दिए जाएंगे। योजना का लाभ अगले 3 माह तक दिया जाएगा।

61 लाख लोगों तक पंहुचाया जाएगा UK Garib Kalyan Ann Yojana का लाभ

केंद्र सरकार द्वारा जारी की गई गरीब कल्याण अन्न योजना का लाभ उत्तराखंड के 61 लाख लोगों को होगा। यंहा प्राथमिक परिवार और अंत्योदय के परिवार के सभी लोगो 5-5 किलो चावल दिए जाएंगे। इस योजना के लिए किसी तरह के पंजीकरण की आवश्यकता नहीं होगी, योजना का लाभ आम राशन की दुकानो के द्वारा ही दिया जाएगा। इस योजना का लाभ उठाने के लिए राशन कार्ड होना अनिवार्य है। प्रदेश में सभी लोगों तक अगले तीन माह यानी जून तक उचित मात्रा में चावल दिए जा सके उसके लिए 90 मिट्रिक टन चावल की आवश्यकता होगी, जिसका बंदोबस्त भी हो चुका है।

उचित मूल्यों की दुकानों (FPS Shops) पर दिया जाएगा अनाज

आपको बता दें कि केंद्र सरकरा ने हाल ही में इस योजना की शुरूआत उत्तराखंड में की है, लिहाजा चावल एक से दो दिन में उन्ही राशन की दुकानो द्वारा देने शुरू किए जाएंगे जिन दुकानों से अक्सर लोग अपना राशन लेते हैं। यानी के नजदीकी सरकारी उचित मूल्यों की दुकानों से|

READ
FCS Uttarakhand UK Ration Card List 2021। उत्तराखंड राशन कार्ड लिस्ट में नाम देखने की प्रक्रिया (AAY,APL,BPL)सूची

यह भी पढ़ें :