उत्तर प्रदेश गम्भीर बीमारी सहायता योजना|Uttar Pradesh gambhir bimari Scheme


उत्तरप्रदेश गम्भीर बीमारी  योजना|Uttar Pradesh gambhir bimari Yojana in Hindi

प्यारे उत्तर प्रदेश वासियों आप सभी को यह जानकर बहुत ही प्रसन्नता होगी कि अब उत्तर प्रदेश सरकार ने जो गंभीर बीमारी से लड़ रहे हैं पर उनके पास इलाज के लिए पैसे नहीं होते हैं वह भी अपना इलाज अब आप आसानी पूर्वक करवा सकते हैं|प्यारे उत्तर प्रदेश वासियों आप सभी को यह जानकर बहुत ही प्रसन्नता होगी कि अब उत्तर प्रदेश सरकार ने जो गंभीर बीमारी से लड़ रहे हैं पर उनके पास इलाज के लिए पैसे नहीं होते हैं वह भी अपना इलाज अब  आसानी पूर्वक करवा सकते हैं|

उत्तरप्रदेश गम्भीर बीमारी

उत्तर प्रदेश के लोग अब सोच रहे होंगे इसमें कौन कौन से व्यक्ति पात्र होंगे तथा किन किन बीमारियों पर उनकी आर्थिक सहायता की जाएगी तो दोस्तों हम आपको इसके बारे में बता दें|सभी निर्माण श्रमिक (गत वित्तीय वर्ष से पंजीकृत) स्वंय एवं पारिवारिक सदस्य पात्र होंगे। इस योजना के अन्तर्गत हृदय आपरेशन‚ गुर्दा ट्रान्सप्लान्ट‚ लीवर ट्रान्सप्लान्ट‚ मस्तिष्क आपरेशन‚ रीढ़ की हड्डी ऑपरेशन‚ पैर के घुटने बदलना‚ कैंसर इलाज‚ एड्स बिमारी आदि ही लाभान्वित होंगी।

उत्तर प्रदेश गंभीर बीमारी योजना पात्रता

  • इस योजना का लाभ लेने के लिए व्यक्ति उत्तर प्रदेश का रहने वाला होना चाहिए
  • आर्थिक रूप से गरीब होना चाहिए
  •  टैक्स देने वाला नहीं होना चाहिए
  • उसके घर से कोई भी सरकारी जॉब में नहीं होना चाहिए
  •  इस योजना के अन्तर्गत हृदय आपरेशन‚ गुर्दा ट्रान्सप्लान्ट‚ लीवर ट्रान्सप्लान्ट‚ मस्तिष्क आपरेशन‚ रीढ़ की हड्डी ऑपरेशन‚ पैर के घुटने बदलना‚ कैंसर इलाज‚ एड्स बिमारी आदि ही लाभान्वित होंगी।

गंभीर बीमारी योजना के लिए जरूरी कागजात

  • श्रमिक बोर्ड का पंजीकृत लाभार्थी श्रमिक हो।
  • किसी गम्भीर बीमारी के इलाज के फलस्वरूप उपचार करने वाले चिकित्सक/अस्पताल द्वारा प्रारूप-2 पर दिया गया प्रमाण पत्र।
  • दवाईयों के क्रय पर हुए व्यय के मूल बिल/बाउचर जो कि उस चिकित्सक/अस्पताल द्वारा प्रामाणित किए गए हो, जिनके द्वारा उपचार किया गया हो।

उत्तर प्रदेश गंभीर बीमारी सहायता योजना के लाभ

  • गरीब व्यक्ति भी अपना इलाज आसानी से करवा सकेंगे
  • लाभार्थी स्वयं या पारिवारिक सदस्य की गम्भीर बिमारी में प्रवेश के किसी सरकारी स्वायत्तशासी चिकित्सालय में कराये गये इलाज पर व्यय की शत प्रतिशत पूर्ति बोर्ड द्वारा की जायेगी।
  • लाभार्थी गम्भीर बिमारी की स्थिति में राष्ट्रस्वास्थ्य बीमा योजना भारत सरकार (CGHS व ESI) द्वारा मान्यता प्राप्त अस्पतालों में इलाज कराते हैं तो इलाज की प्रतिपूर्ति सीधे अस्पताल को दी जायेगी।

उत्तर प्रदेश गंभीर बीमारी सहायता योजना के लिए आवेदन

आप यहां पर दिए गए वेबसाइट से भी ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं और सारी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं

लाभार्थी श्रमिक द्वारा निर्धारित प्रपत्र पर दो प्रतियों में आवेदन-पत्र प्रस्तुत करना होगा। आवेदन पत्र के साथ निम्नलिखित अभिलेख भी संलग्न अनिवार्य रूप से किए जायेंगे:-

  • निर्धारित प्रारूप-1 पर आवेदन पत्र।
  • पहचान प्रमाण पत्र की फोटो प्रति
  • निर्धारित प्रारूप-2 पर समक्ष मुख्य चिकित्साधीक्षक/चिकित्सा बोर्ड द्वारा अनुमन्य एवं प्रतिहस्ताक्षरित प्रमाण-पत्र
  • दवाईयों के क्रय पर हुए व्यय के मूल बिल/बाउचर, जो कि उस चिकित्सक/अस्पताल द्वारा प्रमाणित तथा भुगतान हेतु सत्यापित किए गए हो, जिनके द्वारा उपचार किया गया हो।
  • यदि रोगी अविवाहित पुत्री अथवा 21 वर्ष से कम आयु का पुत्र है तो ऐसी स्थिति में उसका पंजीकृत निर्माण श्रमिक पर आश्रित होने का प्रमाण-पत्र
  • इस समय कार्यवाही में जिला श्रम कार्यालय द्वारा नोडल एजेंसी के रूप में कार्य किया जाएगा। योजनावार तथा लाभार्थीवार विवरण निर्धारित पंजिका में जिला श्रम कार्यालय के साथ-साथ क्षेत्रीय अपर/उप श्रम आयुक्त कार्यालय में संरक्षित रखे जायेंगे, जिसके लिए पंजिका प्रपत्र संख्या-3 संलग्न किया जा रहा है। क्षेत्रीय अपर/उप श्रम आयुक्त कार्यालय द्वारा योजनावार, लाभार्थीवार तथा जिलवार पूर्ण विवरण निर्धारित प्रपत्रों पर मासिक आधार पर संकलित करते हुए, उ0प्र0 भवन और अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के कार्यालय में मास की समाप्ति के उपरांत अगले 04 दिन के अंदर उपलब्ध करवायें जायेंगे।

ko

 

दोस्तों आपको गंभीर बीमारी योजना किस प्रकार की लगी यदि आप इससे संबंधित कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं तो कमेंट कर पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का जरूर जवाब देंगे

 


Comments

  • Meri beti ko haemophilia Ki Bimari hai Jiska ilaj hum nahi kara pate h kya madad karne ki. kripya ke ilaj ke liye madat kare

1 4 5 6

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

कृपया लेख कॉपी ना करें !