Home उत्तर प्रदेश सरकारी योजनाएँ 2019 | UP Govt. Schemes in Hindi उत्तर प्रदेश जाति SC /ST/OBC प्रमाणपत्र|ऑनलाइन आवेदन| UP SC /ST/OBC caste certificate online

उत्तर प्रदेश जाति SC /ST/OBC प्रमाणपत्र|ऑनलाइन आवेदन| UP SC /ST/OBC caste certificate online

उत्तर प्रदेश जाति  SC /ST/OBC प्रमाणपत्र|ऑनलाइन आवेदन| UP SC /ST/OBC caste certificate online

उत्तर प्रदेश जाति  प्रमाणपत्र|यूपी जाति  SC /ST/OBC प्रमाणपत्र|Uttar Pradesh caste certificate in  Hindi

जाति प्रमाण पत्र किसी के जाति विशेष के होने का प्रमाण है विशेष कर ऐसे मामले में जब कोई पिछड़ी जाति के लिए जाति का हो जैसा कि भारतीय संविधान में विनिर्दिष्‍ट है। सरकार ने अनुभव किया कि बाकी नागरिकों की तरह ही समान गति से उन्‍नति करने के लिए  पिछड़ी जाति को विशेष प्रोत्‍साहन और अवसरों की आवश्‍यकता है।

इसके परिणाम स्‍वरूप, रक्षात्‍मक भेदभाव की भारतीय प्रणाली के एक भाग के रूप में इस श्रेणी के नागरिकों को कुछ लाभ दिया जाता है, जैसा कि विधायिका और सरकारी सेवाओं में सीटों का आरक्षण, स्‍कूलों और कॉलेजों में दाखिला के लिए कुछ या पूरे शुल्‍क की छूट देना, शैक्षिक संस्‍थाओं में कोटा, कुछ नौकरियों में आवेदन करने के लिए ऊपरी आयु सीमा की छूट आदि। इन लाभों को प्राप्‍त करने में समर्थ होने के लिए पिछड़ी जाति के व्‍यक्ति के पास वैध जाति प्रमाण पत्र होना जरूरी है।

 UP SC /ST/OBC प्रमाणपत्र  ऑनलाइन 

 UP SC /ST/OBC caste certificate online

 प्यारे दोस्तों जैसा की आप सब जानते हैं हर जगह चाहिए स्कूल कॉलेज या नौकरी का मामला हो तो हमें जाति प्रमाण पत्र की आवश्यकता पड़ती है क्योंकि जाति प्रमाण पत्र के द्वारा हमें कुछ सेवाओं में छूट मिलती है इसलिए हमारे पास जाति प्रमाणपत्र का होना बहुत ही आवश्यक है यदि हमारे पास जाति प्रमाण पत्र ना हो तो हमें बहुत ही मुश्किलों का सामना करना पड़ता है|

जाति प्रमाण पत्र के लाभ

  1. यदि व्यक्ति SC ST OBC जाति का हो तब उसको नौकरियों में स्थान पाने में बहुत आसानी होती है
  2. किसी भी स्कूल या कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए भी जाति प्रमाणपत्र का होना बहुत ही आवश्यक है
  3. यदि छात्र कॉलेज या स्कूल में कोई स्कॉलरशिप लेना चाहते हैं तब भी जाति प्रमाण पत्र मांगा जाता है
  4. अन्य भी किसी भी सरकारी काम में जाति प्रमाणपत्र का होना बहुत जरूरी है |

जाति प्रमाणपत्र प्राप्‍त करने आवश्‍यकता 

आवेदन प्रपत्र ऑनलाइन या शहर/नगर/गांव में स्‍थानीय संबंधित कार्यालय में उपलब्‍ध होता है, जो सामान्‍यता एसडीएम का कार्यालय (सब डिविज़नल मजिस्‍ट्रेट) या तहसील या राजस्‍व विभाग होता है। यदि आपके परिवार के किसी भी सदस्‍य को पहले जाति प्रमाणपत्र जारी करने के पहले स्‍थानीय पूछताछ की जाती है। न्‍यूनतम निर्दिष्‍ट अवधि तक आपके अपने राज्‍य में निवास का प्रमाणप एक वचन पत्र जिसमें यह उल्‍लेख हो कि आप पिछड़ी जाति के हैं और आवेदन के समय विशिष्‍ठ अदालती स्‍टैम्‍प शुल्‍क अपेक्षित होते हैं।

अनुसूचित जाति/जनजाति के लिए प्रमाणपत्र प्राप्‍त करना

अनुसूचित जनजाति भारत के विभिन्‍न राज्‍यों और संघ राज्‍य क्षेत्रों में पायी जाती है। स्‍वतंत्रता के पहले की अवधि में संविधान के अधीन सभी जनजातियों को ”अनुसूचित जनजाति” के रूप में समूहबद्ध किया गया था। अनुसूचित जनजाति के रूप में विनिर्दिष्‍ट करने के लिए अपनाए गए मानदंडों में निम्‍नलिखित शामिल हैं:

  • निश्चित भौगोलिक क्षेत्र में पारम्‍परिक रूप से निवास करना।
  • विशिष्‍ट संस्‍कृति जिसमें जनजा‍तिय जीवन के सभी पहलू अर्थात भाषा, रीति रिवाज, परम्‍परा, धर्म और अस्‍था, कला और शिल्‍प आदि शामिल हैं।
  • आदिकालीन विशेषताएं जो व्‍यावसायिक तरीके, अर्थव्‍यवस्‍था आदि को दर्शाता है।
  • शैक्षिक और प्रौद्योगिकीय आर्थिक विकास का अभाव।

राज्‍य विशेष/संघ राज्‍य क्षेत्र विशेष संबंधी अनुसूचित जनजाति का विनिर्देशन संबंधित राज्‍य सरकार के साथ किया गया। इन आदेशों को बात में परिवर्तित किया जा सकता है यह‍ संसद के अधिनियम द्वारा किया जाता है। भारत के संविधान के अनुच्‍छेद 342 के अनुसार संबंधित राज्‍य सरकार के साथ परामर्श करने के पश्‍चात राष्‍ट्रपति में अब तक 9 आदेश लागू किए हैं जिनमें संबंधित राज्‍य और संघ राज्‍य क्षेत्रों के संबंध में अनुसूचित जा‍ति को विनिर्दिष्‍ट किया गया है।

ये प्रमाण पत्र हमेशा के लिए वैध होता है जब तक की भारत सरकार कोई नया कानून न निकले कहने का मतलब ये है की कोई संसोधन ना हो जब तक. यह प्रमाण पत्र तब तक वैध होता है जब तक कि भारत सरकार या राज्य सरकार की ओर से कोई नया आरक्षण नियम अथवा जाति सूची संशोधन न किया जाय

उत्तर प्रदेश जाति प्रमाण पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन

  • राष्‍ट्रपति के अधिसूचित आदेशों में सूचीबद्ध जनजाति के लोग जनजाति प्रमाणपत्र प्राप्‍त करने के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • जनजातीय विकास विभाग ऑनलाइन सुविधाएं मुहैया कराते हैं |
  • उत्तर प्रदेश जाति प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए यहां पर दिए गए वेबसाइट पर क्लिक करें

http://164.100.181.16/citizenservices/login/login.aspx

  • ऑनलाइन पंजीकरण करने हेतु प्रपत्र  दिखाई देगा इस पर आप अपनी सारी डिटेल भरे|

जाति प्रमाणपत्रडाउनलोड करें20 दिन101.स्वप्रमाणित घोषणा पत्र ( प्रारूप के लिए क्लिक करें)
2.पार्षद/वार्डेन/ग्राम प्रधान का जाति के बाबत प्रमाण पत्र
  • अब “चेक सर्टिफिकेट” लिंक पर क्लिक करें
  • आपका प्रमाण पत्र आपके सामने दिखाई देगा I

इससे संबंधित प्रश्न पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का जवाब जरुर देंगे| आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.