Chhattisgarh Tendupatta Sangrahak Samaj Suraksha Yojana – लाभ, पात्रता और प्रक्रिया


छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 5 अगस्त बुधवार को अपने रायपुर निवास कार्यालय में तेंदूपत्ता संग्राहक सामाजिक सुरक्षा योजना की शुरुआत की। यह योजना शहीद महेंद्र कर्मा की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए उन्हीं के नाम पर इस योजना की शुरुआत की। उन्होंने शहीद महेंद्र कर्मा को बस्तर टाइगर के नाम से भी जाना जाता है। छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले में महेंद्र कर्मा समेत 29 लोगों की मौत 25 मई 2013 को झीरम घाटी में हुए नक्सली हमले के दौरान हुई थी।

छत्तीसगढ़ CG तेंदूपत्ता संग्राहक सामाजिक सुरक्षा योजना

 इस योजना का पूरा नाम शहीद महेन्द्र कर्मा तेंदूपत्ता संग्राहक सामाजिक सुरक्षा योजना है। तेंगूपत्ता संग्राहक सामाजिक सुरक्षा योजना के अंतर्गत राज्य के 12 लाख 50 हज़ार तेंदूपत्ता संग्राहकों को लाभ मिलेगा। राज्य लघु वनोपज सहकारी संघ एवं छत्तीसगढ़ राज्य सरकार द्वारा इस योजना की शुरुआत तेंदूपत्ता मजदूरों को सामाजिक एवं आर्थिक सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से की गई है। इस योजना के माध्यम से तेंदूपत्ता संग्राहक के लोगों को 4 लाख रुपए की बीमा की मदद दी जाएगी। परिवार के मुखिया के मृत्यु की स्थिति में 2 लाख रुपए की अतिरिक्त सहायता राशि दी जाएगी। मृत्यु के 1 महीने के भीतर ही नामांकित व्यक्ति के बैंक खाते में यह राशि सरकार द्वारा भेज दी जाएगी। वन मंत्री मोहम्मद अकबर द्वारा बताया गया है कि केंद्र सरकार द्वारा संचालित बीमा योजना के बंद होने के कारण राज्य सरकार ने तेंदूपत्ता संग्राहकों के लिए इस बीमा योजना की शुरुआत की है।

Tendupatta Sangrahak Samaj Suraksha Yojana

Chhattisgarh CG Tendupatta Samajik Suraksha बीमा योजना के लाभ

यदि परिवार के मुखिया की आयु 50 वर्ष या उससे कम है

  • तेंदूपत्ता संग्रहण कार्य में लगे परिवार के मुखिया की सामान्य मृत्यु पर उनके उत्तराधिकारी या नामांकित व्यक्ति को 2 लाख रुपए की राशि मिलेगी। मृतक की आयु 50 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • अगर किसी दुर्घटना में मौत होती है तो अतिरिक्त 2 लाख रुपए दिए जाएंगे।
  • अगर दुर्घटना में व्यक्ति पूर्णत: विकलांग हो जाता है तो 2 लाख रुपए मिलेंगे!
  • आंशिक विकलांगता की स्थिति में 1 लाख रुपए की सहायता मिलेगी।

यदि परिवार के मुखिया की आयु 50 से 59 वर्ष के भीतर है

  • यदि संग्राहक परिवार के मुखिया की आयु 50 से 59 के बीच में है तो उनकी समान्य मृत्यु के बाद उनके उत्तराधिकारी या नामांकित व्यक्ति तो 75 हज़ार मिलेंगे।
  • किसी दुर्घटना यदि पूर्ण विकलांगता होती है तो 75 हज़ार रूपए मिलेंगे।
  • आंशिक विकलांगता की स्थिति में 37 हजार 500 रूपए मिलेंगे। 

यह भी पढ़ें >> छत्तीसगढ़ सरकार की अन्य योजनाएं

CG Tendupatta Suraksha Scheme Eligibility : पात्रता

  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन देने वाले व्यक्ति की उम्र 59 वर्ष या उससे कम होनी चाहिए।
  • तेंदूपत्ता संग्राहक के अंतर्गत काम करने वाले सभी व्यक्ति इस योजना के पात्र हैं।

Tendupatta Samajik Suraksha Yojana Apply, आवेदन, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया 2020

सरकार द्वारा आवेदन के लिए किसी भी ऑफलाइन या ऑनलाइन जरिए की घोषणा नहीं की गई है। इस योजना के लिए आधिकारिक वेबसाइट https://cgstate.gov.in/ है। यह योजना राज्य के वन विभाग द्वारा संचालित की जाएगी।

पूछे गए सवाल

तेंदूपत्ता संग्राहक सामाजिक सुरक्षा योजना में कुल कितनी राशि की सहायता मिलेगी?

तेंदूपत्ता संग्राहक सामाजिक सुरक्षा योजना के अंतर्गत 2 लाख रुपए की सहायता राज्य सरकार द्वारा दी जाएगी। अगर लाभार्थी  की मृत्यु हो जाती है तो अतिरिक्त 2 लाख रुपए की सहायता दी जाएगी। 

इस योजना का संचालन किस विभाग द्वारा किया जाएगा?

तेंदूपत्ता संग्राहक सामाजिक सुरक्षा योजना का संचालन राज्य के वन विभाग द्वारा किया जाएगा।

योजना का पूरा नाम क्या है?

योजना का पूरा नाम शहीद महेन्द्र कर्मा तेंदूपत्ता संग्राहक सामाजिक सुरक्षा योजना है

इस योजना से क्या लाभ होंगे?

तेंदूपत्ता संग्राहक के लोगों को 4 लाख रुपए की बीमा की मदद दी जाएगी। परिवार के मुखिया के मृत्यु की स्थिति में 2 लाख रुपए की अतिरिक्त सहायता राशि दी जाएगी। मृत्यु के 1 महीने के भीतर ही नामांकित व्यक्ति के बैंक खाते में यह राशि सरकार द्वारा भेज दी जाएगी।