Breaking News
Home / प्रधानमंत्री सरकारी योजनाएँ 2018-19 | narendra modi yojana list in hindi / [स्टार्ट अप इंडिया ] स्टैंड अप इंडिया योजना|ऑनलाइन आवेदन |एप्लीकेशन फॉर्म|

[स्टार्ट अप इंडिया ] स्टैंड अप इंडिया योजना|ऑनलाइन आवेदन |एप्लीकेशन फॉर्म|

स्टैंड अप इंडिया योजना|स्टार्ट अप इंडिया स्कीम|स्टैंडअप इंडिया स्कीम इन हिंदी|स्टैंड अप इंडिया स्कीम डिटेल्स|स्टैंड अप इंडिया लोन|स्टैंड अप इंडिया लोन एप्लीकेशन फॉर्म|startup india scheme eligibility in hindi|start up india yojna in hindi|

प्यारे भारतवासियों आप सभी को यह जानकर बहुत ही खुशी होगी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने स्टैंड अप इंडिया का उद्घाटन किया है इस योजना का मुख्य उद्देश्य है कि जो भी  लोग हैं जैसे कि अनुसूचित जाति ,जनजाति और महिलाएं उनको रोजगार के अवसर प्रदान किए जाएं ताकि वह आसानी से स्टैंड अप इंडिया योजना का लाभ लेकर अपना नया कारोबार शुरु कर सकें|

स्टैंड अप इंडिया योजना का उद्देश्य कम से कम एक अनुसूचित जाति (एससी) या अनुसूचित जनजाति (एसटी) या कम से कम एक महिला उधारकर्ता को एक  उद्यम स्थापित करने के लिए बैंक की शाखा के अनुसार 10 लाख से 1 करोड़ के बीच बैंक से ऋण लेने की सुविधा होगी। गैर-व्यक्तिगत उद्यमों में कम से कम 51% और शेयर के मामले में नियंत्रण हिस्सेदारी या तो एक अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति या महिला उद्यमी द्वारा आयोजित किया जाना चाहिए।

Stand-up India Scheme

स्टैंड अप इंडिया योजना का उद्देश्य

  • दोस्तों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का स्टैंड अप इंडिया योजना को जलाने का मुख्य उद्देश्य है कि हमारे देश के जो भी पिछड़ा वर्ग के लोग हैं वह अपना कारोबार लोन लेकर चला सके ताकि उनको बोझ तले जिंदगी ना जीने पड़े |और वह अपने पैरों पर खड़े होकर अपना कारोबार सही ढंग से कर सकें |
  • (स्टैंड-अप इंडिया) योजना का उद्देश्य प्रत्येक बैंक शाखा द्वारा कम से कम एक अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति के उधारकर्ता और एक महिला उधारकर्ता को नई (ग्रीनफ़ील्ड) परियोजना की स्थापना के लिए रु. 10 लाख से रु. 1 करोड़ के बीच बैंक ऋण प्रदान करना है।
  • ये उद्यम विनिर्माण, सेवा या व्यापार क्षेत्र से संबंधित हो सकते हैं।
  • गैर-व्यक्ति उद्यम के मामले में, 51% शेयरधारिता व नियंत्रक हिस्सेदारी अनुसूचित जाति /अनुसूचित जनजाति या महिला उद्यमी के पास होनी चाहिए।

स्टैंड-अप इंडिया ऋण योजना के लाभ

  • 10 लाख रूपये से 1 करोड़ ऋण लेने का लाभ
  • अनुसूचित जाति /अनुसूचित जनजाति और महिला उद्यमियों को ऋण का लाभ
  • पिछड़ी जाति के लोग भी अपना कारोबार अच्छे से चला सकेंगे|
  • अब गरीब व्यक्ति भी स्टैंड अप इंडिया के द्वारा लोन लेकर अपना कारोबार आसमान तक पहुंचा सकेंगे |
  • वह अपना जीवन यापन अच्छे से कर सकेंगे|
  • स्टैंड अप इंडिया का उद्देश्य महिलाओं और अनुसूचित जाति /अनुसूचित जाति के उद्यमियों की सहायता करना है ।
  • लोगों को 5लाख का ऋण देकर समर्थन करना ।
  • उद्यम शुरू करने पर पहले तीन साल आयकर में छुट ।
  • आवेदन करने के लिए एक छोटा सा फार्म भरने पर लाइसेंस की प्रक्रिया जल्द स्वचालित हो जाएगी ।
  • एक फास्ट ट्रैक रोड मैप का गठन और एक समर्पित वेबसाइट और आवेदन विकसित किया जाएगा ।
  • शुरुआत करने के लिए 10 लाख से 1 करोड़ रूपये तक के ऋण की मंजूरी ।

स्टैंड-अप इंडिया ऋण योजना के लिए पात्रता

  • अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति और/या महिला उद्यमी, जिनकी आयु 18 वर्ष से अधिक है।
  • योजना के अंतर्गत सहायता केवल नई (ग्रीनफ़ील्ड) परियोजनाओं के लिए उपलब्ध है। इस संदर्भ में, नई (ग्रीनफ़ील्ड) परियोजना का अर्थ है – लाभार्थी का विनिर्माण या सेवाक्षेत्र या व्यापार क्षेत्र में पहली बार उद्यम लगाना।
  • गैर-व्यक्ति उद्यम के मामले में, 51% शेयरधारिता या नियंत्रक हिस्सेदारी अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति और/या महिला उद्यमी के पास होनी चाहिए।
  • उधारकर्ता किसी बैंक/वित्तीय संस्था के प्रति चूककर्ता न हो।

स्टैंड-अप इंडिया ऋण योजना के लिए  दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास का प्रमाण
  • व्यवसाय पते का सबूत
  • पैन कार्ड
  • अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए जाति प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट आकार के फोटो
  • बैंक खाता विवरण
  • आस्तियों और देयताओं के प्रवर्तकों / जमानतदार के बयान
  • नवीनतम आयकर रिटर्न
  • रेंट एग्रीमेंट (यदि किराए पर व्यावसायिक परिसर)
  • यदि जरुरत है तो प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से क्लीयरेंस प्रमाण पत्र
  • परियोजना रिपोर्ट

    ऋण का आकार

    सावधि ऋण और कार्यशील पूँजी सहित परियोजना लागत का 75% संमिश्र ऋण।
    यदि किन्हीं अन्य योजनाओं से संमिलन सहायता के साथ उधारकर्ता का अंशदान परियोजना लागत से 25% अधिक हो तो, परियोजना लागत का 75% कवर करने में अपेक्षित ऋण संबंधी शर्त लागू नहीं होगी।

ब्याजदर

ब्याज दर संबंधित निर्धारित श्रेणी (रेटिंग श्रेणी) के लिए बैंक द्वारा प्रयोज्य न्यूनतम ब्याज दर होगा, जो (आधार दर (एमसीएलआर) + 3% + आशय प्रीमियम) से अधिक नहीं होगा।

ऋण की वापिसी

अधिकतम 18 माह की ऋण स्थगन की अवधि सहित ऋण की वापिसी 7 वर्षों में की जाएगी।

स्टैंड-अप इंडिया ऋण योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन

  • आवेदनकर्ता को स्टैंड अप इंडिया के तहत लोन लेने के लिए दिए गए वेबसाइट पर जाना होगा |
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपको लॉगइन [login] पेज आएगा|
  • उस [login]पर क्लिक करें|
  • यूजर नेम[user name,password] और पासवर्ड भरें|
  • एक बार लॉग इन करने के बाद आवेदन फार्म भरने पर आवेदन सीधे लोन विभाग और आपके चुने हुए बैंक को भेज दिया जाएगा|

स्टैंड-अप इंडिया ऋण योजना ऑफलाइन आवेदन

स्टैंड अप इंडिया ऋण योजना के लिए आवेदन तीन तरीकों से किया जा सकता है |

  • वेब पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन
  • सीधे बैंक शाखा में
  • अपनी अग्रणी जिला प्रबंधक के माध्यम से

राष्ट्रीय हेल्पलाइन टोल फ्री नंबर: 18001801111

 more information: स्टैंड-अप इंडिया

lki

दोस्तों यदि आप स्टैंड अप इंडिया से संबंधित कुछ पूछना चाहते हैं तो कमेंट करें हम आपके प्रश्नों का जवाब जरूर देंगे हमारे फेसबुक पेज को लाइक करना ना भूलें हम आपको इसमें मिल अपडेट होते रहेंगे देते रहेंगे|

About Arti

Hii Friends! My Name is Arti and i am a B.Tech Graduate in Computer Sciences Stream. I Love blogging and like to share informational articles. I believe in writing original and detailed content. I really feel very proud when you guys appreciate my Writing. I am dedicated to my work fully, You can expect more detailed Articles in the Future.

Check Also

[रजिस्ट्रेशन] हज यात्रा 2019|ऑनलाइन आवेदन|एप्लीकेशन फॉर्म|Haj Yatra 2019 Application Form

हज यात्रा 2018|हज यात्रा 2019 एप्लीकेशन फॉर्म|Haj Yatra 2019 Online Application Form|Hajj Yatra 2018|हज यात्रा …

SBI मिस कॉल रजिस्ट्रेशन नंबर|सबी मिस्ड कॉल बैलेंस|सबी बैंक बैलेंस चेक

SBI मिस कॉल रजिस्ट्रेशन नंबर|सबी मिनी स्टेटमेंट|सबी मिनी स्टेटमेंट बी मिस कॉल|सबी मिस्ड कॉल बैलेंस| …

20 comments

  1. Banshilal solanki

    Iska avedan kha se ho ga

  2. Bhai ji is ko online karne me high school ki markshet deni padige

  3. शुभम शर्मा

    मैं और मेरी संसथा प्रधानमंत्री स्टाटप इंडिया योजना से जुड़ना चाहते हैं परंतु मूझे कहीं से भी कोई हेलफ नहीं मिल पा रहा है

  4. Sr.mai berojgar Hun aur 3 ladki hai kamai Ka jariya Nahi hai sr. Mai Laghu Udyog masala unit lgana chahte hai please bataye kisase aur kanha samprk Kare startup India se judana chahte hai kripya uchit Salah de (dhanyvad)

  5. Iska avedan kese kiya jaye ga

  6. Bhuvendra singh arya

    मैं इसटाटप इंडिया से जुड़कर खेती के छेतृ में अगृणीय भूमिका निभाकर किसानों की आय तीन से पांच गुनी कर किसानों की हालत सुधारना चाहता हूँ

  7. राजकपूर प्रजापति

    कपूर उद्योग खोलने के बारे मे पूरी जानकारी दे ।

  8. Mai koyla ka business karna chahta hu .mai anpad hu mai ,mai is yojana se judna chahta hu .mai 2 lakh loans lena chata hu please guide kare

  9. i want to open a shop for daily uses material, can i get loan for this business. if i am eligible then how much amount loan i can take and what will be interest rate on loan amount.
    Kindly suggest my number is 9929139411

  10. सर मेरे को बोडि बेरडिग घेरेज लगाना है और 10 लाख रुपए तक लोन चाहिए

  11. सर मैं एक बेरोजगार युवा हूँ।मैंने बीए कर लिया है और वर्तमान मे बी०एड कर रहा हूँ। स्वरोजगार अपनाना चाहता हूँ।मैं उत्तराखण्ड के पहाड़ी क्षेत्र का निवासी हूँ।और हमारे क्षेत्र मे आलू , सेब और टमाटर का बहुत्यात मात्रा मे उत्तपादन होता है। यह फसलें खासकर बरसात के मौसम मे निकलती है। यातायात सुविधा अच्छी न होने के कारण यह माल आसानी से बाजार तक नहीं पहुँच पाता और किसानों को काफी मात्रा मेेे नुकसान झेलना पड़ता है।इसलिए मै वहाँ पर एक कोल्ड स्टोरेज खोलना चाहता हूँ।जिसके अन्तर्गत लगभग 80 गाँव आते है।जिससे ऐसी स्थिति उत्पन्न होने पर माल को सुरक्षित रखा जा सके और किसानों को भविष्य मे ऐसा नुकसान न झेलना पडे़।

  12. अवधेश मालव

    सर् मैं किसान हुं और वेयर हाउस खोलना चाहता हुं ,,,,मेरी जमीन रोड़ पर है

  13. Sir mai apna ek chota sa beautic chalate hu muje apne kam ko age bdana h startup india k madhyam se

  14. Hlo sir Mai apna new business (cotraction work) start Karna chahata hu side Mai contraction ka kam karwata hu please sir help kare

    • kuldeep ji स्टार्टअप्स के लिए धन की व्यवस्था

      सरकार प्रति वर्ष 2500 करोड़ रुपये की एक प्रारंभिक निधि और 4 साल की अवधि में कुल 10,000 करोड़ रुपये की निधि की स्थापना करेगी।

      स्टार्टअप्स के लिए क्रेडिट गारंटी

      स्टार्टअप्स के लिए वेंचर ऋण उपलब्ध कराने के लिए बैंकों और अन्य उधारदाताओं को प्रोत्साहित करने के लिए, राष्ट्रीय क्रेडिट गारंटी ट्रस्ट कंपनी (NCGTC) के माध्यम से क्रेडिट गारंटी तंत्र / सिडबी द्वारा प्रति वर्ष 500 करोड़ के बजट का प्रावधान अगले चार साल के लिए करने का विचार किया जा रहा है।

      कैपिटल गेन पर कर में छूट

      स्टार्टअप्स में निवेश को बढ़ावा देने के लिए सरकार उनको कैपिटल गेन में छूट देगी जिनको वर्ष के दौरान पूंजीगत लाभ हुआ है और जिन्होंनें सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त फंड ऑफ फंड्स में इस तरह के पूंजीगत लाभ का निवेश किया है ।

      स्टार्टअप्स को तीन वर्ष के लिए टैक्स छूट

      भारत में स्टार्टअप्स की कार्यशील पूंजी आवश्यकता को संबोधित करने, विकास को प्रोत्साहित करने और उन्हें एक प्रतियोगी मंच प्रदान करने के लिए स्टार्टअप्स के मुनाफे को 3 वर्ष की अवधि के लिए कर से मुक्त रखा जाएगा।

      उचित बाजार मूल्य पर निवेश में टैक्स छूट

      स्टार्टअप्स में इन्क्यूबेटरों द्वारा निवेश पर निवेश कर से मुक्त रखा जाएगा।

  15. mujhe apna khud ka vyapar karna chahta hu is yojna ke antargat mujhe loan chahiye. kripya marag darshan kare

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!