मुख्यमंत्री निशुल्क कोचिंग योजना राजस्थान|Rajasthan Mukhyamantri Nishulk Coaching Yojana Free Scheme in Hindi


मुख्यमंत्री निशुल्क कोचिंग योजना राजस्थान| राजस्थान मुख्यमंत्री निशुल्क कोचिंग योजना| मुख्यमंत्री निशुल्क कोचिंग योजना|Rajasthan Mukhyamantri Nishulk Coaching Yojana 

सरकार ने राजस्थान सरकार ने राजस्थान के बच्चों के लिए एक बहुत ही बढ़िया योजना का शुभारंभ किया है जिसके अंतर्गत गरीबी रेखा से नीचे आने वाले बच्चों को कोचिंग के लिए पैसे दिए जाएंगे बहुत से ऐसे गरीब बच्चे होते हैं जो पढ़ने को बहुत होनहार होते हैं परंतु पैसों के अभाव में वह कोचिंग नहीं ले पाते हैं |अब उन सब बच्चों को निशुल्क कोचिंग दी जाएगी परंतु यह कोचिंग केवल राजस्थान के बच्चों को ही दी जाएगी राजस्थान के न्याय मंत्री अरुण चतुर्वेदी ने निशुल्क कोचिंग योजना शुरू करने का फैसला किया है इस योजना के तहत जनरल एससी एसटी ओबीसी तथा अन्य वर्ग IIT(Indian institute Of Technology),IIM(Indian Institute Of Management),National Level Medical and National Level Technical College के प्रवेश परीक्षा के लिए कोचिंग देगी| के बच्चों को फ्री में कोचिंग दी जाएगी|

मुख्यमंत्री निःशुल्क कोचिंग योजना

प्यारे दोस्तों अब आप सोच रहे होंगे यह मुख्यमंत्री निशुल्क कोचिंग योजना क्या है इसमें हम आवेदन कैसे करेंगे तथा इसकी पात्रता क्या होगी तो घबराएं नहीं हम आपको इसके बारे में सारी जानकारी विस्तारपूर्वक देंगे केवल इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें ताकि आपको राजस्थान निशुल्क कोचिंग योजना का लाभ लेने में कोई भी परेशानी का सामना ना करना पड़े|

Mukhyamantri Nishulk Coaching Yojana 

राजस्थान राज्य सरकार ने मेधावी छात्रों के कौशल विकास को बढ़ाना के लिए आर्थिक सहायता दी जाएगी. योजना के अंतर्गत निशुल्क कोचिंग योजना जयपुर और कोटा में दी जाएगी. इस योजना में सरकार निम्न विषयो से जुडी कोचिंग प्रदान करेंगे;

  • आई.आई.टी.,
  • आई.आई.एम.,
  • विधि,
  • राष्ट्रीय स्तर के मेडिकल कॉलेज एवं
  • राष्ट्रीय तकनीकी संस्थान

    राजस्थान मुख्यमंत्री निशुल्क कोचिंग स्कीम

    अब हम आपको उन लोगों के बारे में बताएंगे जो राजस्थान निशुल्क कोचिंग योजना में हिस्सा लेंगे इसमें केवल ऐसे वर्ग ही हिस्सा लेंगे जो गरीबी रेखा से नीचे आते हो क्योंकि कुछ लोग ऐसे भी हैं गरीबी रेखा से ऊपर होते हैं और जो अपनी कोचिंग को पूर्ण कर सकते हैं परंतु इस में केवल गरीब व्यक्तियों को ही शामिल किया जाएगा ताकी गरीबों के बच्चे भी कोचिंग लेकर आगे बढ़ सके तथा अपने मां बाप और देश का नाम रोशन कर सकें|

  • अनुसूचित जाति,
  • अनुसूचित जनजाति,
  • अन्य पिछड़ा वर्ग व
  • विशेष पिछड़ा वर्ग एवं
  • सामान्य वर्ग
  • और इसमें से 30% संस्थान संबंधित श्रेणी की छात्राओं के लिए आरक्षित होंगे

    मुख्यमंत्री निशुल्क कोचिंग योजना का लाभ

    इस योजना द्वारा राजस्थान सरकार का उद्देश्य राज्य के मेधावी छात्रों को विकास की ओर बढ़ावा देना है. इस योजना में सरकार जयपुर और कोटा से एक हजार छात्रों का चयन करेगी, जिनको निशुल्क कोचिंग दी जाएगी.

    • योजना की घोषण 2016-17 बजट में गई थी और इसकी शुरुवात 10 फरवरी, 2017 से की गई है|
    • इस योजना में जयपुर और कोटा से 500-500 छात्रों का चयन किया है, जिनको योजना के तहत निशुल्क कोचिंग दी जाएगी|
    • योजना का मुख्य उद्देश्य कमजोर वर्ग और आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के मेधावी छात्रों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है|
    • इस योजान अंतर्गत विद्यार्थियों को इंजीनियरिंग और मेडिकल पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षाओं के लिए दो वर्ष एवं विधि और प्रबंधन पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षाओं के लिए एक वर्ष की मुफ्त कोचिंग उपलब्ध करवाई जाएगी|
    • इस योजना में सरकार द्वारा प्रति छात्र 60 हजार राशि और भविष्य में बढ़ाया जा सकता है|
    • राजस्थान शुल्क योजना से राजस्थान के गरीब बच्चों का बहुत ही लाभ होगा जो अब आसानी से कोचिंग ले सकेंगे

मुख्यमंत्री निशुल्क कोचिंग योजना के लिए पात्रता

  • बच्चा राजस्थान शुल्क कोचिंग योजना में हिस्सा लेगा , राजस्थान का रहने वाला होना चाहिए
  • उसके पास राजस्थान का बोनाफाइड होना चाहिए
  • विद्यार्थी के पास कैटेगरी से संबंधित सर्टिफिकेट होना चाहिए जैसे कि एससी एसटी ओबीसी जनरल
  • विद्यार्थी 11वीं कक्षा 12वीं में पास होना चाहिए|
  • अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, विशेष पिछड़ा वर्ग, अन्य पिछड़ा वर्ग तथा सामान्य वर्ग के विद्यार्थी के माता-पिता/अभिभावकों की वार्षिक आय (अभ्यर्थी की आय को सम्मिलित करते हुए यदि है तो) 2.5 लाख (दो लाख पचास हज़ार रुपये) से अधिक न हो।
  • विद्यार्थियों को इंजीनियरिंग, मेडिकल पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षाओं हेतु कोचिंग सुविधा हेतु अधिकतम दो वर्ष के लिए तथा विधि एवं प्रबन्धन पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षाओं हेतु कोचिंग सुविधा केवल एक वर्ष के लिए देय होगी।

 मुख्यमंत्री निशुल्क कोचिंग योजना ,न्यूनतम पात्रता की प्रतिशतता

कक्षाश्रेणीन्यूनतम प्राप्तांक का प्रतिशतमेडिकल कोचिंग के लिए न्यूनतम प्रतिशतता
10अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/विशेष पिछड़ा वर्ग60 प्रतिशत70 प्रतिशत
10अन्य पिछड़ा वर्ग/सामान्य70 प्रतिशत80 प्रतिशत
स्नातकोत्तर स्तरीय पाठ्यक्रमअनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/विशेष पिछड़ा वर्ग/अन्य पिछड़ा वर्ग/सामान्य60 प्रतिशत

कोचिंग कोटा व जयपुर के प्रतिष्ठित कोचिंग संस्थानों में करवाई जायेगी। कोटा एवं जयपुर दोनों स्थानों पर सभी वर्गों के 500-500 विद्यार्थियों का प्रतिवर्ष चयन किया जायेगा। इनमें से 30 प्रतिशत स्थान सम्बन्धित श्रेणी की छात्राओं के लिए आरक्षित होंगे। छात्राऐं नही मिलने पर रिक्त स्थान उसी वर्ग के छात्रों से भरे जा सकेंगे।

राजस्थान मुख्यमंत्री निशुल्क कोचिंग योजना में आवेदन

  • पहले आएडक SJMS की अधिकारिक वेबसाइट ओपन करें, नीचे दर्शाए फोटो को देखें| आपके सामने इस तरह का पेज खुल कर आएगा|
  • आपकी ID SJMS की अधिकारिक वेबसाइट पर बनी हुई है तो आप अपनी login id और password डाल कर login कर सकते हैं,अगर आपकी ID SJMS की  वेबसाइट पर नही है तो आपको login करने के लिए अपनी पहले ID बनाने पड़ेगी|
  • फॉर्म खुलने के बाद आपको सारी जानकारी ध्यानपूर्वक पर नहीं पड़ेगी यदि आप इस जानकारी को गलत भरते हैं तो आपका फॉर्म अमान्य माना जाएगा |
  • फॉर्म भरने के बाद अब आप सबमिट बटन पर क्लिक करें अब आपका फॉर्म भरा हुआ माना जाएगा इसका प्रिंट आउट आप निकाल भी सकते हैं|

READ HERE: कैसे सीखें अंग्रेजी बोलना

दोस्तों आपको राजस्थान निशुल्क कोचिंग योजना कैसी लगी कृपया कमेंट कर जरूर बताएं यदि आप इससे संबंधित कुछ पूछना चाहते हैं तो कमेंट करके पूछ सकते हैं|