राजस्थान राज्य के वह लोग जो एक लंबें समय से पशुपालन का कार्य कर रहे थे, उनके लिए एक बेहद जबरदस्त खबर है। राजस्थान सरकार ने प्रदेश में देसी गाय की हाईटेक डेयरी फार्म को बढ़ावा देने के लिए कामधेनु डेयरी योजना (RAJASTHAN KAMDHENU DAIRY YOJANA) की शुरूआत की है। इस योजना का संचालन प्रदेश के पशुपालन विभाग द्वारा किया जाएगा। इसमें पशुपालक को केवल अपनी ओर से 10 प्रतिशत पैसा ही निवेश करना होगा, वंही बचा हुआ पैसा सरकार और बैंक की तरफ से कर्ज के तौर पर दिया जाएगा। राज्य के जो भी निवासी कामधेनु डेयरी योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, वह इसमें आवेदन कर सकते हैं। आवेदन केवल 30 जून तक ही स्वीकार किए जाएंगे। लिहाजा अगर आप इस योजना से जुड़ी किसी भी तरह कि कोई जानकारी हासिल करना चाहते हैं, चाहे आप आवेदन करना चाहें, या योजना से जुड़ी शर्ते जानना चाहें, यह सब आपको हमारे इस लेख में मिल जाएगा।

कामधेनु डेयरी योजना

अगर आप राजस्थान के रहने वाले हैं और गौपालन के जरिये रोजगार पाना चाह रहे हैं तो यह योजना आपके बहुत काम की है | इस लेख में राजस्थान कामधेनु डेरी योजना की सम्पूर्ण जानकारी आपको दी जा रही है, जिसे आपको आवेदन करने से पहले अवश्य पढ़ना चाहिए

कामधेनु डेयरी योजना की कुछ मुख्य बातें (RAJASTHAN KAMDHENU DAIRY SCHEME)

सरकार द्वारा चलाई जा रही इस योजना का लाभ राज्य के वह सभी लोग ले पाएंगे जो पशुपालन का कार्य करते हैं, या कर चुके हैं। कामधेनु डेयरी योजना खोलने की कुल लागत 36.68 लाख रूपए है। जिसमें से आवेदक को केवल 10 प्रतिशत ही निवेश करना होगा वंही इसके अलावा बचा हुआ 90 प्रतिशत बैंक से लोन के जरिए दिया जाएगा। वंही लोन की रकम  समय पर वापिस करने पर आवेदक को 30 प्रतिशत तक की सब्सिडी भी दी जाएगी। इस योजना में अधिक मात्रा में दुध देने वाली 30 गाय एक ही नस्ल की होंगी। आवेदक के पास डेयरी खोलने के लिए पर्याप्त मात्रा में  धन, भूमि और कम से कम एक एकड़ जमीन हरा चारा उत्पादन करन के लिए होनी चाहिए।

कामधेनु योजना का उद्देश्य  (KAMDHENU DAIRY SCHEME)

राजस्थान राज्य में ज्यादा से ज्यादा रोजगार पैदा करने के लिए ही इस योजना का ऐलान किया गया है। हम सभी जानते हैं कि देश में मजदूर वर्ग की हालत आज कितनी खराब है। वंही मजदूर अपने अपने राज्य लौट चुके हैं। इसके लिए अलग अलग राज्य सरकारे इन मजदूरों के लिए रोजगार का रास्ता खोल रही हैं। ऐसे में अगर प्रदेश में हाईटेक डेयरी खोली जाएंगी तो पशुपालकों समते मजदूरों को भी काम मिलेगा और इन्हे फिर से राज्य से पलायन नहीं करना पड़ेगा। इसके अलावा राज्य में पशु पालन करने वाले लोगों की आर्थिक स्थिति मजबूत हो और वह भी देश के विकास में योगदान दे पाएंगे ।

यह भी अवश्य पढ़ें >> राजस्थान सरकार की नई योजनाएं

कामधेनु डेयरी योजना के लाभ

  • इस योजना का लाभ उन सभी लोगों को होगा जिन्होने पशु पालन का कार्य किया हुआ है।
  • योजना के जरिए लोग आत्मनिर्भर बनेंगे और अधिक मात्रा में रोजगार के अवसर पैदा होंगे।
  • डेयरी योजना की वजह से प्रदेश के लोगों को बेहतर क्वालिटी का दूध उचित दामों पर मिल पाएगा, जिससे उनका इम्यून सिस्टम भी मजबूत होगा।
  • इस योजना का लाभ प्रदेश की महिला, युवा और वृद्ध व्यक्ति भी उठा पाएंगे।
  • योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक को केवल 10 प्रतिशत ही पैसा निवेश करना होगा।
  • लोन के तौर पर दी गई रकम को समय पर चुकाने वाले व्यक्ति को 30 प्रतिशत सब्सिडी दी जाएगी।
  • पशुपालकों को सही तरह से प्रशिक्षित किया जाएगा, ताकि वह डेयरी के जरिए अच्छा मुनाफा कमा सकें।

कामधेनु डेयरी से जुड़ी हुई शर्तें -RAJASTHAN KAMDHENU DAIRY( Gopalan) Scheme Rules

  • आवेदक को पशुपालन में कम से कम 3 साल का अनुभव होना अनिवार्य है।
  • योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक के पास डेयरी खोलने के लिए खुद की जमीन होनी अनिवार्य है।
  • आवेदक के पास गायों के हरा चारा मुहैया कराने के लिए एक एकड़ भूमि होनी चाहिए।
  • योजना में आवेदन करने वाले व्यक्ति को डेयरी की कुल लागत का 10 प्रतिशत खुद ही वहन करना होगा
  • योजना का लाभ उठाने के लिए 30 जून तक ही आवेदन करना होगा।
  • आवेदक राजस्थान राज्य का निवासी हो, अन्य किसी राज्य के लोग इस योजना का लाभ नहीं ले पाएंगे।
  • डेयरीका संचालन स्थानीय निकाय के प्रतिबंधित क्षेत्र से बाहर किया जाएगा।

राजस्थान कामधेनु योजना में आवेदन हेतु दस्तावेज

  • राजस्थान के निवासी होने का प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता
  • पशु पालन से संबंधित कोई दस्तावेज

कामधेनु डेयरी योजना की आवेदन प्रक्रिया (RAJASTHAN KAMDHENU DAIRY SCHEME)

  1. अब जो भी लोग इस योजना में आवेदन करना चाहते हैं, या योजना से जुड़ी कुछ अन्य जानकारियां जानना चाहते हैं, वह इस साइट पर जा सकते हैं। https://gopalan.rajasthan.gov.in/
  2. साइटसे आपको फॉर्म डाउनलोड करना होगा और इसका प्रिंट निकलाना होगा। फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी सही तरह से भर कर और मांगे गए दस्तावेज की कॉपी फॉर्म के साथ अटैच करके जमा करानी होगी।
  3. इसके बाद आवेदन फॉर्म की जांच होगी और सभी जानकारी सही पाई जाने पर आवेदन स्वीकार कर लिया जाएगा।

Gopalan Rajasthan Kamdhenu Yojana Application/Registration Form 2020

अगर आप आवेदन करने के इच्छुक हैं तो आधिकारिक नोटिफिकेशन पढ़ें और फॉर्म भर के जमा कर दें | यह रहा राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना का फॉर्म :

सम्बंधित प्रश्नोत्तर

क्या है राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना

राज्य सरकार देसी गायों की डेयरी लगा रही है और इस योजना के तहत किसानों/पशुपालकों को कुल लागत का 90 फीसदी तक लोन भी दिया जा रहा है।

आवेदन करने की आखिरी डेट क्या है?

इच्छुक आवेदकों को 30 June 2020 से पहले आवेदन करना होगा

प्रोजेक्ट की कुल लागत कितनी है और आवेदक को कितना पैसा देना होगा ?

प्रोजेक्ट की कुल लागत कितनी है और आवेदक को कितना पैसा देना होगा | समय पर लोन चुकाने वालों को 30 फीसदी सब्सिडी का फायदा मिलेगा।

योजना की आधिकारिक वेबसाइट क्या है?

योजना सम्बंधित किसी भी जानकारी या आवेदन सम्बंधित कोई भी जानकारी की लिए आधिकारिक वेबसाइट gopalan.rajasthan.gov.in पर जाएँ