प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2020 । फसल बरबाद होने पर मिलेगा मुआवजा ( PM fasal Bima Yojana 2020)


आज पूरा भारत एक ऐसी महामारी से लड़ रहा है जिससे सिर्फ बचना ही एक मात्र विक्लप है, वंही दसूरी तरफ देश का वह किसान वर्ग जिनकी फसले प्राकृतिक आपदा के चलते बर्बाद हो गई थी। वह सरकार से मदद की गुहार लगाता दिख रहा था। इसी बीच यह खबर जोर पकड़ रही है, कि 20 अप्रैल 2020 से पहले केंद्र सरकार किसानों की बर्बाद हुई फसलों के लिए,10000 करोड़ रूपए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत जारी कर सकती है। इस बजट के जिरए जिन भी किसानों की फसल प्राकृतिक आपदा के चलते बर्बाद हो गई थी उन्हे मुआवजा दिया जाएगा।

PM Fasal Bima Yojana | प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2020 के अंतर्गत किसानों को राहत

हालांकि इस राहत पैकेज की बात एक लंबे अरसे से चल रही थी, लेकिन देश अभी कोरोना जैसी गंभीर महामारी से परेशान है और लॉकडाउन के चलते सब बंद कर दिया गया है, ऐसे में जिन किसानो की फसल खराब हो चुकी है, उन्हे किसी तरह की समस्या ना हो इसलिए ही प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए राहत बजट जल्द लॉन्च करने की तैयारी की जा रही है।

fasal bima yojana 2020

साल 2019 में बारिश के चलते हुई थी फसलें बर्बाद

ज्ञात हो की बीते साल यानी 2019 के अक्टूबर नवंबर माह में कई राज्यो में भारी बारिश हुई थी, जिसके चलते बहुत से किसानों की पूरी फसल बर्बाद हो गई थी। इसी के बाद से किसान संगठनों ने देश की सरकार से मदद की अपील की थी। अब केंद्र सरकार इस अपील पर काम करती दिखाई दे रही है।

इन आपदाओं के लिए बनाया गया था प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

आपको बता दे कि प्रधानमंत्री फसल बीमा के तहत देश भर के किसी भी किसान की फसल किसी प्राकृतिक आपदा जैसे बाढ़, सूखे, भूस्खलन, ओले या बारिश की वजह से खराब होती है, तो सरकार की तरफ से उस किसान को एक निश्चित रकम की भरपाई की जाएगी। इस योजना में सरकार किसानों को अपनी फसल के लिए बीमा कराने का विक्लप देती है, फसल खराब होने पर बीमित रकम सीधा किसानों के खाते में ट्रांसफर कर दी जाती है।

फसल बीमा योजना की शुरूआत

यह योजना केंद्र सरकार द्वारा 2016 में शुरू की गई थी, जिसके बाद 2020 में इसमें कुछ बदलाव किए गए थे। योजना के शुरूआती दिनों में इसका बजट जंहा 8800 करोड़ रूपए था वंही अब इसका बजट 15500 करोड़ रूपए कर दिया गया है।

 PM fasal Bima Yojana 2020 के तहत मिलेगा बर्बाद हुई फसला का मुआवजा

PM fasal Bima Yojana 2020 के तहत जिन भी किसानों ने आवेदन किया होगा, उन्हे इस योजना के जरिए बर्बाद हुई फसल का मुआवजा, सीधा उनके रजिस्टर्ड बैंक खातों में ट्रांसफर कर दिया जएगा। सरकार द्वारा पार्टनर बीमा कंपनियों पर भी मुआवजे का दबाव बनाया जा रहै है, ताकि इस लॉकडाउन के दौरान किसानों को किसी समस्या का सामना न करना पड़े।

कृषि मंत्रालय द्वारा की जा रही है फसल बीमा रकम की कैलकुलेशन

बताया जा रहा है कि  किसानों की हुई हानी की रकम जल्द से जल्द जारी कर दी जाए इसके लिए कृषि मंत्रालय बहुत तेजी से काम निपटा रहा है। सुत्रों के मिले हवाले से यह पता चला है कि कृषि मंत्रालय में बीमा की राशि का कैलुकलेशन आखिरी दौर में है। इसलिए ऐसा माना जा रहा है कि देश के सभी पीडि़त किसानों के बर्बाद हुई फसल की बीमित रकम जल्द ही ट्रांसफर की जा सकती है।

सरकार इसलिए जल्दी ट्रांसफर करना चाहती है बीमे की रकम

सरकार इसे जारी कराने पर इसलिए भी ज्यादा जोर दे रही है, क्योकि इन किसानों की फसल पहले ही बर्बाद हो चुकी है, वंही लॉकडाउन की वजह से सब्जी मंडी में भी अपने उत्पादों को सही दामों पर बेचना मुश्किल हो रह है। ऐसे में इन तक समय पर रकम पंहुचेगी तभी यह अन्य समस्याओं से दूर हो पाएंगे।

सम्बंधित प्रश्न और उत्तर

खरीफ फसल की बर्बादी के चलते फसल बीमा योजना के तहत क्या राहत मिल सकती है?

सूत्रों की मानें तो केंद्र सरकार किसानों को मुआवजे के तौर पर दस हजार करोड़ का राहत पैकेज लांच कर सकती है । किसानों के खाते में सीधे आ सकते हैं पैसे |

अभी तक कोरोना संकट के चलते फसल बीमा योजना के तहत क्या कदम उठाये गए हैं

अब तक 10 राज्यों के किसानों को 1,008 करोड़ के दावों (Claim) का भुगतान किया गया है |

क्या क्लेम करने पर तुरंत राहत राशि मिलेगी?

लॉकडाउन के चलते प्रक्रिया में थोड़ा विलम्ब जरूर हो सकता है, किन्तु सरकार जरूर जरूरतमंद किसानों की मदद करेगी |

यह भी पढ़ें :