पीएम अटल भूजल योजना 2020। जल सरंक्षण अभियान, लाभांवित राज्यों की सूची


मानव जीवन बिना पानी के हो ही नहीं सकता, यह तो हम सभी जानते हैं। हर साल ना जाने कितना पानी लोग यूं ही बर्बाद कर देते हैं जिससे भूजल बिलकुल निचले स्तर पर पंहुच गया है। अब इसी समस्या से निजाद दिलाने के लिए केंद्र सरकार ने पीएम अटल भूजल योजना शुरू की है। इस योजना के जरिए बारिश के पानी का सरंक्षण तो किया ही जाएगा, साथ ही यह भी देखा जाएगा कि भूमि में पानी का गिरते स्तर को कैसे ठिक किया जाए। इसके अलावा PM Atal Bhujal Yojana के तहत लोगों के घरों तक साफ पानी पंहुचाया जाएगा।  अगर आप भी अटल भूजल योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, या फिर इस योजना से संबंधित किसी तरह की जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो आप हमारे साथ इस लेख पर अंत तक बने रहें।

क्या है PM Atal Bhujal Yojana

Atal Bhujal Yojana का आगाज पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के 95वीं जयंती के अवसर पर शुरू की गई थी। इस योजना के माध्यम से सरकार जल से जुड़ी कई समस्याओं के साथ दो दो हाथ करेगी। 

  • इसमें पहली समस्या कि आजादी के इतने समय बाद भी लोगों को पीने के लिए पानी तक नहीं मिल पा रहा, इस योजना के जरिए लोगो के घरों तक पानी पंहुचाया जाएगा।
  • देश के जिन राज्यों में भूजल निचले स्तर पर पंहुच गया है उसे फिर से सही स्तर पर लाने का काम किया जाएगा। 
  • बारिश के पानी को सरंक्षित करके उसे इस्तेमाल में लाया जाएगा ताकि जमीन से पानी निकालने का काम बंद हो या कम से कम किया जा सके। 

PM Atal Bhujal Yojana

अटल भूजल योजना में सरकार और वर्ल्ड बैंक की भागीदारी

इस योजना में केंद्र सरकार और वर्ल्ड बैंक बराबर के भागीदार होंगे। योजना में खर्च की जाने वाली 6000 करोड़ रूपए की रकम में आधा हिस्सा वर्ल्ड बैंक द्वारा वहन किया जाएगा। इस योजना से 8350 गांव लाभंवित होंगे। योजना का फायदा कुल मिला कर उन स्थानों को दिया जाएगा जंहा या तो अब तक पानी की अधिक समस्या है या फिर भूमि का जल स्तर बहुत नीचे जा चुका है इसके लिए सरकार की ओर से कुछ राज्यों की सूची भी तैयार की गई है। इस सूची में महाराष्ट्र, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान और गुजरात शामिल हैं

अटल भूजल योजना से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें

  • Atal Bhujal Yojana की शुरूवात 25 दिसंबर 2019 को की गई थी।
  • इस योजना को 12 दिसंबर 2019 को वर्ल्ड बैंक ने अनुमति दी थी।
  • योजना में 50 फीसदी हिस्सेदारी केंद्र सरकार की है जबकि बची हुई 50 फीसदी हिस्सेदारी वर्ल्ड बैंक की होगी।
  • इस योजना को कामयाब बनाने के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर जल सुरक्षा के काम किए जाएंगे। 
  • भूजल संरक्षण के लिए शैक्षणिक और संवाद कार्यक्रमों को संचालित किया जाएगा। 
  • इस स्कीम में आम लोगो  को भी शामिल किया जाएगा, ताकि सभी लोग जल बचाने और उसके उचित इस्तेमाल कर सकें।
  • वाटर यूजर एसोसिएशन, मॉनिटरिंग और भूजल की निकासी के डेटा संकलन की मदद से इस स्कीम को आगे बढ़ाया जाएगा। 

अटल भूजल योजना से लाभ

  • इस योजना के जरिए किसानों को पानी की समस्या नहीं होगी। जिसके कारण सूखा पड़ने पर भी किसान खेती कर सकेंगे और उनकी आय में बढ़ौतरी होगी।
  • अटल भूजल योजना के जरिए अब उन घरों तक भी पानी पंहुचाया जाएगा जिन्हे अब तक पानी के लिए अलग अलग जगहो पर जाना पड़ता है। 
  • इस योजना के माध्यम से जमीन में गिरता पानी का स्तर संतुलित हो पाएगा।
  • स्कीम के माध्यम से 8350 ग्रामीण इलाको में पानी की स्थिति को बेहतर बनाया जाएगा। 

Atal Bhujal Yojana Official site

अगर आप इस योजना से जुड़ी अन्य कोई जानकारी हासिल करना चाहते हैं, या फिर इस योजना में अपना योगदान करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको इस योजना से जुड़ी आधिकारिक साइट पर जाना होगा। यंहा जा कर आपको अपना पंजीकरण कराना होगा। 

Official Site >>>> Click Here

संबंधित प्रशनोत्तर

इस स्कीम को कब शुरू किया गया था?

PMAB योजना की शुरुवात 25 नवंबर 2019 को की गई थी।

क्या इस स्कीम का लाभ उत्तर प्रदेश को होगा?

हां योजना का लाभ उत्तर प्रदेश राज्य को होगा।

क्या अटल भूजल योजना में वर्ल्ड बैंक का भी योगदान है?

हां इस स्कीम में वर्ल्ड बैंक का आधा योगदान है। इस स्कीम में खर्च होने वाली लागत का 50 प्रतिशत भाग वर्ल्ड बैंक द्वारा वहन किया जाएगा।

इस योजना का लाभ कुल कितने क्षेत्रों को होगा?

इस स्कीम का लाभ देश के 8350 से ज्यादा ग्रामीण क्षेत्रों को होगा।

यह भी पढ़ें>>> केंद्र सरकार की यह योजना जरूर देखें