उत्तराखंड पंडित दीन दयाल गृह आवास (होम स्टे) योजना 2020। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म


क्या है इस लेख में hide
1 उत्तराखंड पंडित दीन दयाल गृह आवास (होम स्टे) योजना का उद्देश्य

कोरोना महामारी में हुए नुकसान और चरमरा चुकी अर्थव्यवस्था को संभालने के लिए सरकारें हर संभव प्रयास कर रही हैं। उत्तराखंड राज्य ने भी राज्य की भलाई के लिए एक नई योजना शुरू की है। इस योजना का नाम है पंडित दीन दयाल गृह आवास (होम स्टे) योजना। इस योजना के माध्यम से लोग उत्तराखंड में आने वालें पर्यटकों को लोग अपने घर में ही ठहरा सकेंगे और इसके जरिए अपना आजीविका में सुधार ला पाएंगे। Pandit Deen Dayal Griha Awas (Home Stay) Yojana में  आवेदन करने वाले लोगों की सरकार आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। जिसके जरिए वह अपने घर का इस्तेमाल पर्यटकों को ठहराने के लिए कर सकें। जो भी लोग इस योजना में अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना चाहते हैं या इस योजना से जुड़ी किसी तरह की कोई जानकारी हासिल करना चाहते हैं वह हमारे साथ इस लेख पर अंत तक बने रहें।

हम सभी जानते हैं की कोरोना वायरस के दौरान हुए लॉकडाउन के चलते देश की आर्थिक स्थिति काफी खराब हो गई थी, जिसके बाद मोदी जी ने देश को आत्मनिर्भर बनाने का संकल्प लिया था। इसलिए ही उत्तराखंड सरकार ने पंडित दीन दयाल होम स्टे योजना के साथ साथ वीर चंद्र सिंह गढ़वाली पर्यटन स्वरोजगार योजना  के आवेदन ऑनलाइन लेना शुरू कर दिया। ताकि जल्द जल्द से राज्य में आर्थिक स्थिति बेहतर हो और रोज़गार के अधिक अवसर पैदा हों।

उत्तराखंड पंडित दीन दयाल गृह आवास (होम स्टे) योजना का उद्देश्य

  • स्थानीय लोगों को स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराना और आर्थिक स्थिति में सुधार लाना।
  • पर्यटकों को राज्य के व्यंजनों, संस्कृति, ऐतिहासिक धरोहर तथा पारंपरिक, पहाड़ी शैली से परिचित कराना। 
  • प्रदेश में रोज़गार के अधिक अवसर पैदा करना ताकि लोगों को पलायन करने से रोका जा सके।
  • 2020 के अंतर्गत 5000 होम स्टे विकसित करना।

Pandit Deen Dayal Griha Awas (Home Stay) Yojana सरकार देगी इतनी सब्सिडी

होम स्टे विकसित करने के लिए पर्वतीय क्षेत्रों में कुल लागत का 33 प्रतिशत या अधिकतम 10 लाख रूपए सरकार सबसिडी। जबकि मैदानी क्षेत्रों में सरकार कुल लागत का 25 प्रतिशत या 7 लाख रूपए तक की सब्सिडी देगी। 

पंडित दीन दयाल गृह आवास योजना के फायदे

  • घरों के नवीनीकरण करने के लिए बैंकों से ऋण लिए जाने की दशा में राजकीय सहायता भी प्रदान की जाएगी।
  • होम स्टे से की जाने वाली कमाई पर शुरू के तीन सालों तक एसजीएसटी की धनराशि की भरपाई विभाग द्वारा की जाएगी
  • योजना के प्रचार प्रसार हेतु वेबसाइट और एप दोनो का निर्माण किया जाएगा।
  •  होम स्टे के लिए चुने गए लाभार्थियों को आतिथ्य सत्कार की ट्रेनिंग भी दी जाएगी।
  • योजना के माध्यम से राज्य के लोगों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। 
  • योजना में आवेदन ऑनलाइन किया जा सकेगा।
  • तीस लाख रुपये की सीमा तक व्यावसायिक ऋण की स्वीकृति के सापेक्ष बंधन विलेख पर देय प्रभार शुल्क की प्रति पूर्ति |
  •  पुराने भवनों में उच्चीकरण, साज-सज्जा, अनुरक्षण एवं 2 लाख तक की सीमा तक नए शौचालयों के निर्माण पर भू-परिवर्तन की आवश्यकता नहीं होगी।
  • अपने घरों को इस्तेमाल व्यवसायिक रूप से करने की वजह से पर्यटक आम कल्चर को आसानी से समझ पाएंगे।
  • पर्यटकों के लिए रहने की अधिक और उचित व्यवस्थाओं में सुधार होगा।

Deen Dayal Home Stay Yojana  में पात्रता एवं शर्तें

  • आवेदन करने वाला व्यक्ति अपने परिवार के साथ घऱ में ही रह रहा हो। 
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए पंजीकरण कराना अनिवार्य होगा।
  • योजना का लाभ केवल उत्तराखंड के नागरिकों को ही दिया जाएगा।
  • आवेदन करने वाले व्यक्ति का खुद का घर होना अनिवार्य है।
  • पर्यटकों को रखने के लिए  1 से लेकर 6 कमरों तक का इंतजाम किया जाना जरूरी है। 
  • यह योजना नगर निगम क्षेत्र को छोड़कर संपूर्ण प्रदेश में लागू होगी।
  • पारंपरिक, पहाड़ी शैली से निर्माण किए गए घरों को प्राथमिकता दी जाएगी।
  • सब्सिडी के द्वारा हासिल की गई रकम के अलावा बची हुई सारी रकम का इंतजाम आवेदक को करना होगा, इसके लिए वह लोन भी ले सकता है।

पंडित दीन दयाल होम स्टे योजना में आवेदन हेतु दस्तावेज

  • आवेदन करने वाले व्यक्ति के पास उत्तराखंड का निवास प्रमाण पत्र होना अनिवार्य होगा।
  • आधार कार्ड होना अनिवार्य है
  • वोटर आईडी कार्ड
  • एड्रेस प्रूफ
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी

Pandit Deen Dayal Griha Awas (Home Stay) Yojana Online Registration Form

  1. उत्तराखंड के वह लोग जिनका खुद का घर है वह इस योजना में आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले आपको योजना से जुड़ी आधिकारिक साइट पर जाना होगा, जिसका लिंक यह है। http://vcsgscheme.uk.gov.in
  2. लिंक पर क्लिक करने के बाद आपके सामने साइट का होम पेज खुल जाएगा, यंहा आपको पंजीकरण करें के विकल्प पर क्लिक करना होगा। उत्तराखंड पंडित दीन दयाल गृह आवास (होम स्टे) योजना 2020
  3. इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा जंहा आपको योजना का फॉर्म दिखाई देगा। अब आपको सबसे पहले योजना का नाम चुनना है। इसके बाद फॉर्म में पूछी गई सारी जानकारी भरनी है और फॉर्म जमा करना है। उत्तराखंड पंडित दीन दयाल होम स्टे योजना 2020
  4. इसके बाद आपके फॉर्म की जांच होगी और सब कुछ सही होने पर आपको सूचित कर दिया जाएगा।

पंडित दीन दयाल होम स्टे योजना से संबंधित प्रशनोत्तर

पंडित दीन दयाल गृह आवास योजना किस राज्य द्वारा चलाई जा रही है?

यह योजना उत्तराखंड राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही है।

उत्तरांखंड पंडित दीन दयाल होम स्टे योजना में क्या किया जाएगा?

इस योजना के तहत राज्य के आम घरों को पर्यटकों के ठहरने लायक बनाया जाएगा, ताकि लोग अपने घरों के जरिए भी कमाई कर सकें।

क्या दीन दयाल होम स्टे योजना में सरकार की तरफ से सब्सिडी दी जाएगी?

हां सरकार की तरफ से मैदानी क्षेत्रों में 25 प्रतिशत और पर्वतिय क्षेत्रों में 33 प्रतिशत तक की सब्सिडी दी जाएगी।

पंडित दीन दयाल गृह आवास योजना में बिना आवेदन के घरों का इस्तेमाल व्यवसायिक तौर पर किया जा सकता है?

नहीं इसके लिए आवेदन करना अनिवार्य होगा

यह भी पढ़ें>>> Vsgscheme में सरकार देगी इतनी सब्सिडी