देश में लोगों के विकास और उनकी सुरक्षा के लिए अक्सर बहुत से कदम उठाए जाते हैं, नई नई योजनाएं लागू की जाती हैं, ताकि लोग सुरक्षित रहें और उनका विकास हो सके। ऐसी ही एक योजना लागू की गई थी 1 जनवरी 2004 में जिसका नाम नेशनल पेंशन सि्स्टम

है। इस योजना के तहत देश का कोई भी नागरिक अपने अनुसार निवेश कर के अपनी रिटयरमेंट को सेक्योर कर सकता है।

इसके बाद वह जब तक जीवित है, उससे पेंशन का हकदार बना जाता है। पहले केवल यह प्वाइंट ऑफ प्रेसेंस के जरिए खुलती थी, लेकिन अब नेशनल पेंशन सिस्टम में ऑनलाइन खाता खोला जा सकात है। इसकी प्रक्रिया भी बहुत ही आसान है। अगर आप NPS ACCOUNT ऑनलाइन खोलना चाहते हैं और योजना से जुड़ी कुछ अहम जानकारी पाना चाहते हैं, तो हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ें।

क्या है NPS                                                                                       

नेशनल पेंशन सिस्टम योजना केद्र सरकार दवारा चलाई जाने वाली एक रिटायरमेंट सेविंग स्कीम है। इस योजना में देश का कोई भी व्यक्ति जिसकी उम्र 18 से 60 के बीच हो वह आवेदन कर सकता है। इसमें लोग अपने अनुसार पैसा एनपीएस खाते में निवेश करते हैं और रिटायर होने के बाद इस पैसे का 60 प्रतिशत भाग एक साथ ले सकते हैं, जबकि बचा हुआ हिस्सा पेशन के रूप में हर माह पा सकते हैं।

योजना में निवेश किए गए पैसे का 25 प्रतिशत भाग आप 60 साल की उम्र से पहले निकाल सकते हैं, लेकिन उसके लिए आपको कुछ शर्तें पूरी करनी होती हैं। एनपीएस में निवेश करने वालों के खाते को PERMANENT REITREMENT ACCOUNT NUMBER मिल जाता है। यह वैसा ही है जैसे की पैन नंबर या कोई बैंक खाता। यही आपकी निवेशक होने की पहचान है

नेशनल पेंशन सिस्टम के लाभ                                                           

  • NPSमें निवेश करने का सबसे बड़ा लाभ यह है कि इसमें आपको किसी भी बैंकिंग सेक्टर द्वारा चलाए जा रहे निवेश प्लान से अधिक रिर्टन मिल जाता है। चाहे वह एफडी हो, पीपीएफ हो या अन्य को स्कीम
  • एनपीएस में निवेश कर के आयकर के सेक्शन 80सी के तहत 2 लाख रूपए तक टैक्स बचा सकते हैं।
  • निवेश की गई रकम के रिर्टन पर भी किसी तरह कोई टैक्स नहीं वसूला जाता है। यानी निवेश में भी बचत और रिर्टन पर भी
  • एनपीएस में खाते के जरिए आप अपने पैसे को अलग अलग सेक्टर में अपने हिसाब से निवेश कर सकते हैं। इसमें आपको इक्विटी, बॉन्डस में निवेश करने का विक्लप भी मिलता है जिसे या तो आप अपने फाइनेंसल एडवाइजर मदद भी ले सकते हैं, या फिर अपने अनुसार निवेश कर सकते हैं।

नेश्नल पेंशन के लिए पात्रता एंव दस्तावेज                                           

  • आप अगर भारतीय नागरिक या एनआरआई हैं तो भी आप एनपीएस खाता खुलवा सकते हैं।
  • एनपीएस खाता खोलने के लिए आपकी उम्र कम से कम 18 साल और अधिकतम 60 साल होनी चाहिए।
  • आधार कार्ड और वह मोबाइल नंबर जिससे आधार लिंक है। नोट:बिना लिंक मोबाइल नंबर के रजिस्ट्रेश संभव नहीं है।
  • मोबाइल नंबर अगर नोटिफीकेशन की सेवा किसी अन्य नंबर पर चाहते हैं तो।
  • पैन कार्ड
  • ईमेल आईडी
  • फोटो
  • हस्ताक्षर की गई स्कैन कॉपी भी आपके पास होनी अनिवार्य है।
  • बैंक अकाउंट डिटेल्स, इसमे नेट बैंकिंग की सेवा चालू होनी जरूरी है।
  • साल में कम से कम 500 रूपए निवेश करने अनिवार्य हैं, ऐसा नहीं होने पर खाता अस्थाई तौर पर बंद कर दिया जाएगा, हालांकि जितने समय के लिए निवेश नहीं किया गया उसका इकट्ठा भुगतान भी किया जा सकता है। इससे फिर से खाता चालू हो जाएगा।

ONLINE NPS ACCOUNT OPENING PROCESS             

  1. एनपीएसखाता खोलने के लिए आपको सबसे पहले इसकी आधिकारिक साइट पर जाना होगा, जिसका लिंक यह है। https://enps.nsdl.com/eNPS/NationalPensionSystem.html
  2. अबआपके सामने साइट का होम पेज खुल जाएगा यंहा आपको NATIONAL PENSION SYSTEM का विक्लप दिखाई देगा, आपको इस पर क्लिक करना होगा
  3. अबआपके सामने नया पेज खुलेगा जिसमें आपको न्यू रजिस्ट्रेशन के विक्लप पर क्लिक करना होगा।
  4. इसकेबाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा जिसमें आपको रजिस्ट्रेश कंपनी के नाम से है या आपके अपने नाम से यह चुनना होगा। इसके अलावा अपना बैंक का नाम और अपना पैन नंबर डाल कर आगे बढ़े।
  5. अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा जिस पर फॉर्म मौजूद होगा, फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी दर्ज करें और सब्मिट करें।ध्यान रहे सारी जानकारी पूरी तरह सही हों, साथ ही सिग्नेचर की स्कैन कॉपी और अपनी फोटों एंव अन्य दस्तावेज की कॉपी अपलोड करें।
  6. अब अगले चरण में आपको पेमेंट गेटवे चुनना होगा अपनी नेट बैंकिंग के यूजर आईडी पासर्वड डाल कर आगे बढ़े
  7. इसकेबाद आपके सामने कुछ सामान्य सी जानकारियां मांगी जाएंगी यह जानकारी भरें
  8. अब आपका PRAN जनरेट हो जाएगा। आप इसमें निवेश कर सकते हैं शुरूआत में 500 रूपए डिपोजिट कराना अनिवार्य होगा।