Skip to content

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना |Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana in Hindi

पीएम  वय वंदना योजना|PM Vaya Vandana Yojana in Hindi|PMVVY|प्रधानमंत्री वय वंदना योजना|pmvvy plan in hindi|प्रधानमंत्री वंदना योजना|प्रधानमंत्री वय वंदना योजना पीएमवीवीवाई

प्यारे देशवासियों आप सभी को यह जानकर यह जानकर खुशी होगी कि हमारे देश की सरकार ने देश के वरिष्ठ नागरिकों के लिए पेंशन योजना शुरू की है इस योजना की शुरुआत अरुण जेटली द्वारा की जाएगी इस पेंशन योजना का लाभ लेने के लिए सभी इच्छुक आवेदन कर सकते हैं इस योजना में भाग लेने के लिए व्यक्ति की उम्र 60 वर्ष से अधिक होनी चाहिए तभी वह प्रधानमंत्री व्यय वंदना योजना का लाभ ले सकता है|

पेंशन की अधिकतम सीमा एक परिवार के लिए है, परिवार में पेंशनधारक, उसके पति /पत्नी और आश्रित शामिल होंगे। ब्याज की गारंटी के बीच अंतर और अर्जित वास्तविक ब्याज और प्रशासन से संबंधित खर्च के कारण होने वाली कमी के लिए वित्‍तीय सहायता भारत सरकार द्वारा की जाएगी और इसकी निगम को प्रतिपूर्ति की जाएगी।

पीएम वय वंदना योजना

  •  वरिष्ठ नागरिकों के लिए सामाजिक सुरक्षा पहलों को प्रोत्साहन देते हुये योजना के तहत मौजूदा निवेश सीमा साढ़े सात लाख रुपये को बढ़ाकर 15 लाख रुपये प्रति वरिष्ठ नागरिक कर दिया गया है|
  • इससे वरिष्ठ नागरिकों के लिए सामाजिक सुरक्षा को बढ़ाया जा सकेगा|
  • निवेश सीमा बढ़ने से वरिष्ठ नागरिकों को प्रति माह दस हजार रुपये तक पेंशन मिल सकेगी!!!!!!

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना इस योजना का लाभ 60  से ऊपर का व्यक्ति चाहे गरीब हो या अमीर सभी ले सकते हैं| 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए तैयार की गई एक खास पेंशन योजना है जो कि 4 मई 2017 से 3 मई 2018 तक उपलब्ध होगी, यानी इस दौरान आप इस योजना को चुन सकते हैं। वरिष्ठ पेंशन बीमा योजना (वीपीबीवाई) की ही तरह प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (पीएमवीवीवाई) उन वरिष्ठ लोगों के लिए एक पेंशन योजना है जिनकी उम्र 60 वर्ष के ऊपर है। इस योजना के अंतर्गत 8 फीसद का सम एश्योर्ड रिटर्न भी सुनिश्चित किया गया है।

यह योजना 10 साल के लिए 8 प्रतिशत प्रतिवर्ष मासिक देय (8.30 प्रतिशत प्रतिवर्ष) का निश्चित रिटर्न सुनिश्चित कराती है| योजना की खरीदारी के समय पेंशन द्वारा चुनी गई मासिक/तिमाही/अर्ध-वार्षिक/वार्षिक आवृत्ति के अनुसार 10 वर्षों की पॉलिसी अवधि के दौरान हर अवधि के अंत में पेंशन देय है. इस योजना को सेवा कर और जीएसटी से छूट दी गई है|

ड्राइविंग लाइसेंस ऑनलाइन आवेदन एप्लीकेशन फॉर्म

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना के लाभ

दोस्तों अब आप सभी सोच रहे होंगे हमें इसका क्या लाभ मिलेगा ?तो इसके बहुत से लाभ होंगे जो हम आपको डिटेल में बता रहे हैं कृपया ध्यान से पढ़ें

  •  यह पेंशन स्कीम 8 फीसद का एश्योर्ड रिटर्न उपलब्ध करवाएगी।
  • यह स्कीम 10 साल के लिए है।
  • यानी एक बार पेंशन प्लान ले लेने पर आपको अगले 10 सालों तक मासिक आधार पर पेंशन दी जाती रहेगी।
  • 10 साल की पॉलिसी टर्म से दौरान पेंशन हर अवधि के अंत में दी जाएगी, जैसा कि पेंशनल ने खरीद के दौरान मासिक, तिमाही, छमाही और सालाना आधार का चयन किया होगा।
  • यह स्कीम पूरी तरह से सर्विस टैक्स और जीएसटी के दायरे से बाहर है।
  • अगर पेंशनर पॉलिसी टर्म की अवधि यानी 10 साल तक जिंदा रहता है तो पर्चेज प्राइज के साथ ही फाइनल पेंशन की इंस्टॉलमेंट का भुगतान कर दिया जाएगा।
  • अगर किसी कारणवश पेंशनभोगी (पॉलिसी होल्डर) की मृत्यु हो जाती है तो, भुगतान किए गए प्रीमियम (खरीद मूल्य) पेंशनभोगी के नामित/ कानूनी उत्तराधिकारी को वापस कर दिए जाएंगे।
  • पॉलिसी के तीन साल पूरे हो जाने के बाद आपको पर्चेज प्राइज का 75 फीसद हिस्सा बतौर लोन भी मिल सकता है। लोन का ब्याज पेंशन की इंस्टॉलमेंट से पूरा कर लिया जाएगा और लोन की राशि क्लेम के दौरान रिकवर कर ली जाएगी।
  • स्कीम के तहत अगर पेंशनर को खुद या उसकी पत्नी को गंभीर बीमारी हो जाती है तो वह इस स्कीम से समय से पहले निकल सकता है। ऐसी सूरत में उसे पर्चेज प्राइस का 98 फीसदी रिफंड मिल जाएगा।

मैच्योरिटी बेनिफिट- 
पॉलिसी अवधि के अंति तक पेंशनर के गुजर-बसर के लिए पेंशन के खरीद मूल्य और अंतिम किस्त का भुगतान पेंशनभोगी को दिया जाएगा।

पेंशन का भुगतान-
पेंशनरों को पॉलिसी अवधि के दौरान पेंशन मिलेगी। उदाहरण के लिए, अगर आप एक महीने की पॉलिसी की तारीख के बाद मासिक पेंशन मोड का चुनाव करते हैं तो आपको अगले महीने से ही पेंशन मिलना शुरु हो जाएगी।

योजना के अंतर्गत डेथ बेनिफिट-
पॉलिसी टर्म (10 साल) के दौरान पेंशनर की मौत होने पर, नॉमिनी को पर्चेज प्राइज वापस कर दिया जाएगा।

प्रधान मंत्री वय वंदना योजना में सहभागी होने की शर्तें:

 

 न्यूनतमअधिकतम
उम्र60 साल (पूरा)कोई सीमा नहीं
पालिसी अवधि१० साल
पेंशन मोडमासिक, तिमाही, छमाही तथा वार्षिक रूप से
खरीदी मुल्यRs. 1,50,000 मासिक
Rs. 1,49,068 तिमाही
Rs. 1,47,601 छमाही
Rs.1,44,578 वार्षिक
Rs. 7,50,000 मासिक
Rs. 7,45,342 तिमाही
Rs. 7,38,007 छमाही
Rs. 7,22,892 वार्षिक
Pension AmountRs. 1,000/- मासिक
Rs. 3,000/- तिमाही
Rs.6,000/- छमाही
Rs.12,000/- वार्षिक
Rs. 5,000/- मासिक
Rs. 15,000/- तिमाही
Rs. 30,000/- छमाही
Rs. 60,000/- वार्षिक

प्रधानमंत्री व्यय वंदना योजना में प्रीमियम प्लान्स :

प्रधानमंत्री व्यय वंदना योजना में पेंशन रेट :

प्रधानमंत्री व्यय वंदना योजना में ऑफलाइन आवेदन-पत्र :

  1. इस प्रधानमंत्री वाया वंदना योजना में ऑफलाइन एप्लीकेशन फॉर्म द्वारा आवेदन करने के लिए LIC ऑफिस जाना होगा |
  2. फिर, आवेदन-पत्र को भरकर ऑफिस में ही जमा करना होगा |

प्रधानमंत्री व्यय वंदना योजना में ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म :

  • प्रधानमंत्री वाया वंदना योजना में ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म भरने के लिए दी गई  वेबसाइट www.licindia.in पर क्लिक  करें |
  • पोर्टल पर दिए गए “प्रधानमंत्री वाया वंदना योजना” पर क्लिक करें |

  • अब सामने आए, पृष्ठ पर योजना से जुड़ी जानकारी व सम्पर्क करने के लिए विवरण दिया है, जिन पर सम्पर्क कर आवेदक आवेदन से जुड़ी जानकारी ले सकता है |
  • इस योजना में आवेदन के समय PIN CARD आवश्यक व अनिवार्य है |
  • प्रधानमंत्री व्यय वंदना योजना ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म देख सकते है |

  • रजिस्ट्रेशन होने के बाद, आवेदक के पास “ACCESS ID” आएगी |
  • इस नौ अंको के ID Number को भरने के बाद आप रेजिस्टर हो जाएंगे |

  • 10 वर्षों की पॉलिसी अवधि के दौरान पेंशनधारक की मृत्यु पर लाभार्थी को क्रय मूल्य का भुगतान किया जाएगा।

पेंशन भुगतान का तरीका:

पेंशन धारक को  मासिक, त्रैमासिक, अर्ध-वार्षिक और वार्षिक तौर पर पेंशन का भुगतान किया जाएगा. पेंशन का भुगतान एनईएफटी(NEFT) द्वारा या आधार सक्षम भुगतान प्रणाली के माध्यम से किया जाएगा।

डाउनलोड प्रधानमंत्री  वय वंदना योजना ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म

दोस्तों आपको प्रधानमंत्री व्यय वंदना योजना जानकारी किस प्रकार की लगी? कृपया कमेंट कर जरूर बताएं आपको इससे संबंधित कुछ प्रश्न पूछने हैं तो आप हमें कमेंट कर पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का जवाब अवश्य देंगे

Last Updated on October 15, 2021 by Hindi Yojana Team

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Comments are closed.

endarchives