एमपी ई-उपार्जन पर इस तरह करें ऑनलनाइन रजिस्ट्रेशन


मध्य प्रदेश के ऐसे किसान जिन्होंने इस वर्ष रबी सीजन में गेंहू की फसलों की उपज पैदा की थी, लेकिन उन्हे उचित खरीदार नहीं मिल रहे हैं, या फिर वह अपनी फसल सीधा सरकार को न्यून्तम रकम पर देने के लिए तैयार हैं, वह सरकार को यह फसल दे सकते हैं। इसके लिए किसानो को अपना पंजीकरण एमपी ई-उपार्जन पोर्टल पर कर सकते हैं। एमपी सरकार ने इसके लिए किसानों के रजिस्ट्रेशन लेना स्वीकार कर दिया है।  अगर आप भी MP E-Uparjan पर रजिस्ट्रेशन कराना चाहते हैं या सरकार की इस मुहिम से जुड़ी किसी भी तरह की जानकारी हासिल करना चाहते हैं। इसके लिए आपको कंही जाने की आवश्यकता नहीं है, यह सब आप ऑनलाइन पता कर सकते हैं। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को समझने के लिए आपको हमारे इस लेख पर अंत तक बने रहना होगा।

क्या है एमपी ई-उपार्जन

मध्य प्रदेश के किसान एमपी ई-उपार्जन के माध्यम से अपनी रबी की फसल को 1925 रूपए प्रति टन बेच सकते हैं। सरकार द्वारा शुरू की गई इस मुहिम के कारण किसानों को उनकी फसल के उचित दाम बड़ी आसानी से प्राप्त हो जाएंगे। इसके लिए उन्हे केवल साइट पर जाकर अपना पंजीकरण करा सकते हैं। 

MP E-Uparjan पोर्टल का उद्देश्य

यूं तो देशभर में किसानों की हालत कैसे ही यह हम सभी जानते हैं।  किसान अक्सर अपनी फसल को पूरी तरह बेच ही नही पाते जिसकी वजह से उनकी मेंहनत तो खराब होती है, साथ ही उन्ह बड़ा घाटा भी होता है। लेकिन ई-उपार्जन के जरिए किसानो की फसल को खरीदा जा सके और उन्हे किसी तरह का कोई घाटा ना हो इसलिए ही सरकार ने पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू की है। सरकार की इम मुहिम के जरिए किसानों को अपनी फसल के सही दाम प्राप्त हो जाएंगे साथ ही रजिस्ट्रेशन होने की वजह से किसानों और सरकार के बीच सीधा संपर्क बना रहेगा।

मध्य प्रदेश ई उपार्जन पोर्टल  के लाभ

  • पोर्टल के माध्यम से लोग अपने मोबाइल या क्ंप्यूटर से आसानी से रजिस्ट्रेशन करा पाएंगे। जिसकी वजह से समय की भी बचत होगी और उन्हे रजिस्ट्रेशन के लिए यंहा वंहा के चक्कर नही लगाने पड़ेंगे।
  • योजना का लाभ एमपी के सभी किसानो को होगा।
  • पंजीकरण कराने की ऑनलाइन प्रक्रिया को बहुत ही आसान रखा गया है ताकि किसान खुद भी रजिस्ट्रेशन करा सकें।
  • किसान अपनी फसल को न्यून्तम दामो पर बेच पाएंगे। 
  • फसल का बाजार में सौदा ना होने पर उन्हे अपनी फसल के उचित दाम हासिल हो सकेंगे।
  • खेती के लिए की गई फसल आसानी से बेची जा सकेगी।
  • किसानों को एक अच्छा मुनाफा हासिल होगा।
  • रजिस्ट्रेशन के लिए आपका मोबाइल नंबर आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए।

Madhya Pradesh E-Uparjan हेतु पात्रता एंव दस्तावेज

  • आवेदन करने वाले व्यक्ति  के पास निवासी प्रमाण पत्र  होना जरूरी है। 
  • आवेदक की समग्र आईडी
  • आधार कार्ड
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • ऋण पुस्तिका
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो।

MP E-Uparajan Yojana Online Registration Form

  1. मध्य प्रदेश के जो भी किसान आवेदन करना चाहते हैं उन्हे सबसे पहले इसकी आधिकारिक साइट पर जाना होगा। जिसका लिंक यह है।http://mpeuparjan.nic.in/mpeuparjan/Home.aspx
  2. लिंक पर क्लिक करते ही आपके सामने साइट का होम पेज खुल जाएगा। यंहा आपको  रबी 2020-2021 के विक्लप पर क्लिक करना होगा। mp euparjan portal
  3. अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा जंहा आपको रबी उपार्जन वर्ष 2020-21 हेतु किसान पंजीयन आवेदन पर क्लिक करना होगा।
  4. अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा यंहा आपको कुछ दिशा निर्देश दिए होंगे और इसी के साथ आपको तीन अन्य विक्लप दिखाई देंगे। इसमे आपको मोबाइल नंबर, किसान कोड या समग्र आईडी डालनी होगी इसके बाद आपको सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा।
  5. अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा,यंहा आपके सामने एक पंजीकरण फॉर्म खुल जाएगा। अब इस फॉर्म में आपको बैंक खाता नंबर, भूमि विवरण, आधार कार्ड नंबर जैसी तमाम जानकारियां दर्ज करनी होंगी। इसके अलावा अपनी फसल की जानकारी भी देनी होगी। 
  6. सारी जानकारी भरने के बाद आपको सब्मिट के बटन पर क्लिक करना होगा और इस तरह आपका पंजीकरण पूर्ण हो जाएगा।

एमपी ई-उपार्जन मोबाइल एप ऐसे करें डाउनलोड

अगर आप मोबाइल एप के जरिए पंजीकरण कारना चाहते हैं तो इसके लिए आपको इस पोर्टली की ही एप को डाउनलोड करनी होगी।

  • सबसे पहले आपको अपने स्मार्ट फोन के प्ले स्टोर में जाना होगा। यंहा सर्च बॉक्स में MP E-Uparjan लिख कर सर्च करना होगा। 
  • इसके बाद आपके सामने एप आ जाएगी इसे डाउनलोड करके इंस्टाल करना होगा।
  • अब आप इस एप के जरिए भी अपना पंजीकरण करा सकते हैं।

 

एमपी ई-उपार्जन से सम्बंधित प्रशनोत्तर

ई-उपार्जन किस राज्य द्वारा शुरू किया गया है?

यह एक पोर्टल है और मध्य प्रदेश राज्य द्वारा चलाया जा रहा है।

एमपी ई-उपार्जन से किसानों को क्या लाभ होगा?

इस पोर्टल के जरिए किसान अपनी रबी फसल को सरकार को सीधा ऑलनाइन माध्यम से बेच पाएंगे।

एमपी ई-उपार्जन में फसल की न्यूनतम राशि क्या रखी गई है

एमपी ई-उपार्जन पर 1925 रूपए एक क्विंटल रखी गई है

यह भी पढ़ें- मध्य प्रदेश की योजनाओं के बारे में जाने