क्या 14 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म हो जायेगा |जानिये क्या होने वाला है April 14th को | Official Announcements, Notification (in Hindi)

कब खत्म होगा लॉकडाउन | Kya 14th April ko lockdown khatm hoga ya nahi – लॉकडाउन की पूरी analysis | पब्लिक ट्रांसपोर्ट (बस, ट्रेनें, हवाई यात्रा), स्कूल, दुकानें, बिज़नेस, राज्य के भीतर और इंटरस्टेट ट्रेवल पर क्या डिसिशन लिया जा सकता है

कोरोना वायरस के चलते देश में 21 दिन का लॉकाडाउन कर दिया गया था। अब इस लॉकाडाउन में महज 6 दिन बाकी रह गए हैं। ऐसे में लोग इस बात से परेशान हैं कि क्या लॉकाडाउन को आगे बढ़ाया जाएगा (Lockdown Extension in Hindi), अगर नहीं बढ़ाया जाएगा तो सरकार ऐसे कौन से कदम उठाएगी जिससे कोरोना से लड़ाई भी चलती रहे और देश में काम काज भी चलाया जा सके।

क्या मॉल्स खुलेंगे क्या लोग अपने गांव जा सकेंगे, क्या लॉकडाउन फिर से लगेगा, सवाल आपके मने में भी बहुत से उठ रहे होंगे, तो घबराइए मत | लॉकडाउन खुलेगा या नहीं, क्या होगा , यह जानने के लिए हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ें।

14 अप्रैल को क्या होगा | क्या लॉकडाउन खुलेगा? Lockdown Extension Decision in Hindi

ज्ञात हो की 24 मार्च 2021 को लॉकडाउन का ऐलान किया गया था, इसमे केवल जरूरी सुविधाओं और सेवाओं में कार्यरत लोगो को सरकार की तरफ से बाहर निकलने की छूट मिली थी। इसके अलावा राशन, फल और सब्जी जैसी जरूरी वस्तुएं खरीदने के लिए लोग बाहर जा सकते थे। लेकिन किसी को भी बेवजह घूमने से रोका जा रहा था, अब यह 21 दिन का लॉकडाउन 14 अप्रैल 2021 को समाप्त हो जायेगा|

यह भी जानें >> 29 अप्रैल को क्या होने वाला है

सबके मन में बड़ा प्रश्न यह है के क्या इसके बाद लॉकडाउन बढ़ाया जायेगा या फिर सब सामान्य हो जायेगा | हमने अपनी तरफ से इस बारे में कुछ विश्लेषण किया है |

14 April को यानी 21 दिन के लॉकडाउन के बाद सब सामान्य नहीं हो सकता – जानिये क्यों

ये सच है के बहुत से लोग अभी भी घर से बाहर कहीं फंसे हुए हैं और बहुत परेशानी में हैं । आखिर मुश्किल हालत में कौन अपने परिवार के साथ नहीं रहना चाहता | ऐसे सभी लोग यह आस लगा कर बैठे हैं के 14 अप्रैल को, 21 दिन के लॉकडाउन की समाप्ति के बाद शायद सब नार्मल हो जाये और वो अपने घर वापिस पहुँच जायें|

READ
Maharashtra MH COVID 19 Pass, Apply, Check Status & Download MH Travel E Pass @covid19.mhpolice.in

लेकिन ताज़ा हालत का जायजा लेने के बाद ऐसा होना काफी मुश्किल दिखाई पड़ रहा है | यह हैं कुछ कारण जिनकी वजह से लॉकडाउन या तो बढ़ सकता है :

कारण नंबर 1 >> तबलीगी जमात से जुड़े लोगों की बेवकूफी की वजह से देश में कोरोना के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं और लगभग सभी राज्यों के कुछ लोगों का जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लेने की वजह से सभी राज्य रेड अलर्ट पर हैं|

कारण नंबर 2 >> देश के कुछ लोग लॉकडाउन को गम्भीरतापूर्वक नहीं ले रहे हैं । वो मास्क का उपयोग करने से बच रहे हैं जिसकी वजह से वो खुद तो कोरोना का शिकार हो सकते हैं और साथ ही साथ दूसरों को भी कर सकते हैं|

कारण नंबर 3 >> देश में लॉकडाउन की वजह से जितना कोरोना के शिकारों का जितना आंकड़ा कम होना चाहिए था उतना हो नहीं पाया है । जिसकी वजह से केंद्र और राज्य सरकारें शायद लॉकडाउन की चौदाह अप्रैल को समाप्त न कर पाएं

Partial Lockdown की है सम्भावना

यह सम्भावना अभी भी बनी हुई है के देश में कोरोना से कम प्रभावित राज्यों में पार्शियल लॉकडाउन यानी थोड़ी ढील के साथ लॉकडाउन चालू रहे । हालांकि अभी तक इस बात की पुष्टि तो नहीं की जा सकती किन्तु इन कारणों से इसे नकारा भी नहीं जा सकता :

सभी राज्य अर्थव्यवस्था में गंभीर मंदी से झूझ रहे हैं । कोरोना के कम केसेस वाले राज्य जरूर चाहेंगे के 14 अप्रैल के बाद लॉकडाउन में थोड़ी ढील दी जाये और अर्थव्यवस्था में थोड़ा सुधार किया जाए । हालांकि यह बात तय है के एकदम से कोई भी राज्य सब सामान्य नहीं होने देगा । धीरे धीरे चरणबद्ध तरीके से ढील दी जा सकती है

लेकिन इसके बावजूद देश में कुछ चीजो पर अब भी पाबंदी लगाई जा सकती है। आइए जानते हैं 14 अप्रैल के बाद क्या खुलेगा और किस पर लगी रह सकती है, पाबंदी।

केंद्र सरकार हटा देगी लॉकाडाउन?

पहले माना जा रहा था के केंद्र सरकार लॉकडाउन हटा लेगी । लेकिन हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने संकेत दिए हैं के लॉकडाउन खीच सकता है|

आगे बढ़ सकता है लॉकडाउन – नरेंद्र मोदी जी ने दिए संकेत

आठ अप्रैल को नरेंद्र मोदी जी ने एक बड़े लेवल की वीडियो मीटिंग की, जिसमें सभी बड़ी पार्टियों के लीडर्स से बात हुई | इकोनॉमिक्स टाइम्स की खबर के मुताबिक मोदी जी मीटिंग के दौरान यह कहा के अभी तक जो भी सुझाव आये हैं उनमें लॉकडाउन को बढ़ाने या पार्शियल लॉकडाउन की बात कही गई है । इस बात से लॉकडाउन के बढ़ने के अंदेशा लगाया जा रहा है

READ
कोरोना आपदा में पीएम-केयर्स प्रधानमंत्री राहत कोष में दान दें | Covid 19 :Donate to PM Cares Rahat Kosh Online

Partial Lockdown या लॉकडाउन में ढील दी गई तो कुछ ऐसी होगी स्तिथि

स्कूल और कॉलेज रह सकते हैं बंद

स्कूल और कॉलेजों को बंद रखने का आदेश जारी रह सकता है, इसके पीछे का कारण यह माना जा रहा कि छात्र अपने घरो से अलग-अलग राज्यों में कॉलेजों के लिए निकलेंगे जिससे कोरोना के मामलो में बढ़ोतरी हो सकती है, इसलिए कॉलेज और स्कूलों पर पाबंदी जारी रह सकती है।  हो सकता है कि इसमे तकनीकी इंस्टीट्यूशन  पर से पाबंदी हटा दी जाए, हालांकि सरकार की तरफ से ऐसे कोई इशारे नजर नहीं आ रहे हैं।

इन जगह पर जा रह सकती है पाबंदी

शॉपिंग मॉल और कपड़ों से जुड़ी मार्केट भी लॉकडाउन के बाद बंद रहने की आशंका है, क्योंकि अभी हम गर्मी के मौसम की तरफ बढ़ ही रहे हैं, ऐसे में शॉपिंग मॉल और बड़ी बड़ी कपड़ो की मार्केट या ऐसी जगह जंहा लोग ज्यादा मात्रा में इकठठे हो पाएं ऐसे स्थानो को भी बंद रखा जा सकता है इनमे मूवी थिएटर, एम्यूसमेंट पार्क और रेस्टोरेंट में बैठ कर खाने पर पाबंदी लगी रह सकती है।

कुछ जगह के लिए खुल सकता है पब्लिक ट्रांसपोर्ट

देश के अलग अलग कोने में लोग फंसे हुए हैं और अपने घर जाना चाहते हैं, इसलिए ऐसा हो सकता है कि कुछ जगह पर पब्लिक ट्रंसपोर्ट उचित मात्रा में खोल दिया जाए ,ताकि लोग अपने घऱ जा सके।हालांकि ऐसा होना केवल उन्ही जगहों पर संभव है जहाँ अभी कोरोना के कम मामले आये हैं

दफ्तरों और फैक्टरियों में शुरू हो हो सकता है कामकाज

दफ्तरों और फैक्टरियों पर भी यह पाबंदी हटाई जा सकती है साथ ही इन्हे सोशल डिस्टेंसिग का पालन करने के सख्त निर्देश दिए जा सकते हैं। ऐसे दफ्तरो पर पाबंदी लगी रह सकती है जिनका काम घर बैठ कर भी हो सकता है।

जंहा प्रभाव कम वंहा पूरी तरह खुल सकता है लॉकडाउन

उन जिलों और जगह पर लॉकडाउन पूरी तरह से हटाया जा सकता है जंहा कोरोना के मामले बेहद कम या ना के बराबर सामने आए हों।

छोटे बाजार एंव सब्जी मंडी पूरी तरह खुल सकती हैं।

जिम सार्वजनिक पार्कों और पर्यटन स्थलों पर यह पाबंदी बनी रह सकती है। ऐसे ऐतिहासिक स्थल या धार्मिक स्थलो पर भी पाबंदी जारी रह सकती है, जंहा अत्याधिक भीड़ लग जाती हो। छोटे बाजार या मंडियां पूरी तरह खुली रह सकती हैं।

READ
कोरोना वायरस टिप्स, Covid19 से जुड़ी अफवाहें। कोविड 19 वायरस से जुड़े सवाल और उनके जवाब

परीक्षाओं के लिए करना होगा इंतजार

जिन भी लोगों या छात्रों की परीक्षा स्थगित कर दी गई थी, या जिनकी परीक्षा हाल ही में होनी ती उन्हे अभी थोड़ा और इंतजार करना पड़ सकता है।

खेल जगत पर भी पाबंदी के आसान

खेल जगत पर भी यह पाबंदी जारी रह सकती है, हालांकि ऐसा हो सकता है कि खेलों का आयोजना बिना दर्शकों के किया जाए

सरकार कराएगी नियमों का पालन

देश के नागरिकों को पूरी तरह सुरक्षित रखने के लिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट और बाकि अन्य जगह पर सोशल डिसेटेंसिग का ध्यान रखा जाए, इसके लिए भी सरकार कुछ अहम कदम उठाएगी और लोगों को जागरूक करने का काम करती रहेगी। पुलिस प्रशासन द्वारा राज्यों में कोरोना से लड़ने के नियमों का पालन हो पाए, इसका भी ध्यान रखा जाएगा।

क्या लॉकडाउन कुछ समय के लिए हटेगा और फिर लगेगा?

आज कल सोशल मीडिया पर बहुत सी फर्जी तस्वीरें वायरल हो रही हैं, जिसमें यह तक लिखा हुआ है कि लॉकडाउन केवल 5 दिनों के लिए ही खुलेगा। इस वायरल मैसेज के अनुसार इक्कीस दिन के लॉकडाउन के बाद पांच दिन का विराम होगा फिर 28 दिन का लॉकडाउन होगा, फिर पांच दिन का विराम होगा और अंत में पंद्रह दिन का लॉकडाउन लगेगा|

आपसे आग्रह है के आप आप ऐसी किसी भी अफवाह पर ध्यान न दें और न ही ऐसे किसी मैसेज या पोस्ट का शेयर करें।

Lockdown Extension पर कोई आधिकारिक अधिसूचना या Notification आई है?

जी नहीं | अभी तक केंद्र सरकार या किसी राज्य सरकार ने लिखित रूप से ऐसी कोई घोषणा नहीं की है जिसमें बताया गया हो के लॉकडाउन बढ़ने वाला है | जैसे ही ऐसी कोई सुचना जारी होगी आपको इसी सेक्शन में मिलेगी

सम्बंधित प्रश्न और उत्तर

क्या 14 अप्रैल के बाद इक्कीस दिन के लॉकडाउन का हटना तय है?

जी नहीं ! ऐसी कठिन परिस्थियों में कुछ भी तय नहीं है | आपसे निवेदन है के केवल सरकारी आदेशों पर विश्वास करें |

Partial लॉकडाउन क्या होता है ? क्या इक्कीस दिन का समय समाप्त होने पर पार्शियल लॉकडाउन लगेगा?

सीधे शब्दों में कहें तो पार्शियल लॉकडाउन का मतलब है के लॉकडाउन तो लगा रहेगा किन्तु कुछ छूट भी रहेगी | कुछ शर्तों या छूट के साथ चलने वाले लॉकडाउन को ही पार्शियल लॉकडाउन कहा जा रहा है |

लोगों को अभी और कितने समय तक घरों में रहना पड सकता है?

एक नंबर देना सभव नहीं है लेकिन मौजूदा हालत देखें तो शायद सरकार कुछ और दिन लॉकडाउन बढ़ाने की और कदम उठा सकती है|

Sarkari Yojana Updates के लिए बने रहिये Hindiyojana.in के साथ