Skip to content

खोया/चोरी हुआ मोबाइल फोन कैसे ढूंढें | CEIR पोर्टल (ceir.gov.in) से ऑनलाइन पता लगाएं

गुम हुआ फोन कैसे ढूंढें | चोरी हुए फोन का पता कैसे लगाएं | फोन गुम होने की शिकायत ऑनलाइन कैसे करें

READ IN ENGLISH

आज कल सभी लोग स्मार्ट फोन का इस्तेमाल करते है। इन मोबाइल फोन की कार्य क्षमता कई ज़्यादा है और दिखने में भी बड़े ही आकर्षित लगते है। इसी वजह से मोबाइल के खोने का या चोरी होने का खतरा अधिक बढ़ जाता है। लोग अपने मोबाइल फोन में कई ज़रूरी सूचनाएं रखते है। ऐसी सूचनाएं गलत हाथों में न पड़े इसके लिए दूरसंचार विभाग ने लोगो की सहायता के लिए नया पोर्टल जारी किया है।

चोरी हुआ मोबाइल कैसे ढूंढें  | CEIR पोर्टल पर खोये/चोरी हुए मोबाइल फोन का ऑनलाइन पता लगाएं 

chori hua phone kaise dhunde

इस पोर्टल का नाम दूरसंचार विभाग द्वारा CEIR (सेंट्रल इक्विपमेंट आइडेंटिटी रजिस्टर) रखा गया है। इस ऑनलाइन सुविधा के तहत यदि आपका मोबाइल फ़ोन गुम हो जाता है या चोरी हो जाता है तो आप इस पोर्टल पर जाकर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते है। यदि ऐसा कुछ हो जाता है तो विभाग उस नम्बर को ब्लॉक कर देगा और सभी जानकारियां लीक होने से बचाएगा। इस योजना को सबसे पहले महाराष्ट में लागू किया गया है । 

कुछ अंतराल के बाद यह योजना देशभर में सभी मोबाइल उपभोक्ताओं के लिए लागू कर दी गयी। केंद्र सरकार द्वारा इस योजना की घोषणा राज्य में 2017 में ही कर दी गयी थी। CEIR पोर्टल में 15 नम्बर का IMEI नंबर सभी मोबाइल हैंडसेट के बारे में फीड कर दिया गया है। इस योजना को सरकार द्वारा पायलट प्रोजेक्ट का नाम दिया गया हैं।

CEIR पोर्टल क्या है और कैसे काम करता है 

CEIR पोर्टल (सेंट्रल इक्विपमेंट आइडेंटिटी रजिस्टर) की कार्य प्रकिया –

  • इस पोर्टल में सभी हैंडसेट की जानकारियां फीड कर दी गयी है। मोबाइल फोन के IMEI नंबर होते है जिससे कविभाग उसकी सारी जानकारी अपने पास रखता है। IMEI की वजह से मोबाइल क्लोनिंग की समस्याओं में कमी आई है। पोर्टल पर दर्ज सभी डाटाबेस के ज़रिये चोरी हुआ मोबाइल आसानी से ट्रेस किया जा सकेगा।
  • इसके मुताबिक मोबाइल फोन को तीन लिस्ट में बाँट दिया गया है। मोबाइल फोन को इस योजना के अंतर्गत वाइट, ग्रे और ब्लैक लिस्ट किया गया है। उपभोक्ता वाइट लिस्ट से जुड़े फोन को इस्तेमाल कर सकते है। ग्रे लिस्ट वाले हैंडसेट्स को इस्तेमाल तो किया जा सकेगा पर यह निगरानी में रहेंगे। ब्लैक लिस्ट की सूचि में आने वाले मोबाइल फोन को नेटवर्क के ज़रिये संपर्क करने की अनुमति नही दी जायेगी।
  • यदि आपका फोन कही खो गया है या फिर चोरी हो गया है तो आपको पड़ताल के लिए पोर्टल पर FIR दर्ज करानी होगी। आगे की कार्यवाही इस प्रक्रिया के बाद ही शुरू हो सकेगी। शिकायत दर्ज कराने के लिए दूरसंचार विभाग ने 14422 हेल्पलाइन नंबर को जारी किया है। 
  • जब पोर्टल पर आपकी शिकायत आएगी तो पुलिस शिकायत बाद ही विभाग उस मोबाइल को ब्लैक लिस्ट के अंतर्गत शामिल कर देगी। 

इस ऑनलाइन सर्विस के कुछ अचूक लाभ –

  • सभी चोरी हुए व खोए हुए मोबाइल फोन को आसानी से ट्रेस कर सकते है। इस पोर्टल के ज़रिये मोबाइल को ब्लॉक किया जा सकता है।
  • सारी जानकारियों को गलत हाथो में पड़ने से इस पोर्टल के ज़रिये बचाया जा सकता है।
  • चोरी हुए मोबाइल के मालिक की सहायता के लिए पोर्टल ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है।

खोया/चोरी हुआ मोबाइल फोन कैसे ढूंढें | CEIR पोर्टल पर ऑनलाइन शिकायत 

मोबाइल चोरी या गुम होने की ऑनलाइन शिकायत करने से पहले आपको नजदीकी पुलिस स्टेशन में जाकर कंप्लेंट देनी होगी और सम्बंधित अधिकारी से कंप्लेंट नंबर लेना होगा | 

ऐसा कर लेने के बाद ये कीजिये : 

  • सबसे पहले चोरी या गुम हुए फोन को ब्लॉक करने के लिए आधिकारिक पेज पर पहुंचिए

खोया/चोरी हुआ मोबाइल फोन कैसे ढूंढें | CEIR पोर्टल (ceir.gov.in) से ऑनलाइन पता लगाएं

  • इस पेज पर आपको अपने फोन की कुछ जानकारी देनी होगी, जैसे के imei नंबर, फोन का ब्रांड, फोन का बिल इत्यादि  | 
  • इसके बाद फोन के चोरी होने या गुम होने की जानकारी देनी होगी जैसे के , मोबाइल फोन कहाँ गुम हुआ, किस दिन गुम हुआ और आपको पुलिस कंप्लेंट नंबर भी देना होगा|
  • इस बाद मोबाइल फोन के मालिक व्यक्ति को अपनी सही जानकारी देनी होगी और एक चालू नंबर से ओटीपी द्वारा वेरिफिकेशन करनी होगी |
  • अंत में रिक्वेस्ट फॉर्म जमा कर दें और एप्लीकेशन नंबर संभल कर रखें

जरुरी लिंक

ध्यान रहे अभी तक यह सुविधा केवल महाराष्ट्र तक ही सीमित है, जल्द ही देश के तमाम राज्यों में इसे लागू कर दिया जाएगा

Last Updated on May 17, 2021 by

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now
endarchives