11 December, 2020 #Central Govt

एक देश एक राशन कार्ड योजना | One Nation One Ration Card Scheme

one nation one ration card

One Nation One Card Policy (In Hindi)| एक देश एक राशन कार्ड योजना की सम्पूर्ण जानकारी 

ताज़ा अपडेट >> सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को एक देश एक राशन कार्ड योजना को अपनाने के बारे में सोचने को कहा | हालांकि इस योजना की आधिकारिक शुरुआत जुलाई में होनी है लेकिन कोरोना संकट के चलते सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को यह सलाह दी है |

राज्य सरकार अपने नागरिकों के लिए राशन कार्ड को वितरण करती है। राशन कार्ड सिर्फ एक ही राज्य के निवासी उपभोक्ता के लिए तैयार किया जाता है, वह नागरिक दूसरे राज्य में जाकर अपने राशन कार्ड का ईस्तेमाल नही कर सकता मगर अब केंद्र सरकार के खाद्य मंत्री रामविलास पासवान द्वारा  यह निर्धारित किया गया है कि सभी उपभोक्ता एक राशन कार्ड से ही देश भर में राशन का लाभ उठा सकेंगे और दुकानों से अपने – अपने हिस्से का अनाज प्राप्त कर सकेंगे। इस स्कीम को एक देश एक राशन कार्ड के नाम से जाना जा रहा है |

एक देश एक राशन कार्ड योजना | One Nation One Ration Card

हाल ही में हुई बैठक में पासवान द्वारा कई मुद्दों पर चर्चा की गयी जैसे राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के कुशल क्रियान्वयन, खाद्यान्नों के भंडारण, पूर्ण कम्प्यूटरीकरण, और वितरण में पारदर्शिता और तो और एफसीआई, सीडब्ल्यूसी और एसडब्ल्यूसी डिपो के डिपो ऑनलाइन सिस्टम (डॉस) के साथ समन्वय रखते हुए एक यह मुद्दा भी रखा गया है।

एक देश एक राशन कार्ड योजना के तहत हर क्षेत्र के निवासी को राशन कार्ड की सुविधा देश में हर किसी राज्य में दे दी जायेगी। वह व्यक्ति कहीं भी रहे अपने राशन कार्ड से इस योजना के तहत अन्न किसी भी पीडीएस की दुकान से अपना एक दिन का अन्न प्राप्त कर सकता है। यह हर एक नगरिक के लिए बहुत बड़ी राहत की बात है।

वन नेशन वन राशन कार्ड अगस्त 2021 से होगा लागू

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 30 जून 2021 को भारत के गरीब परिवारों को एक नई सौगात दी है। अब अगस्त माह से भारत में वन नेशन वन राशन कार्ड का नियम लागू हो जाएगा। यानी अगर आप देश के किसी भी राज्य में क्यों ना हो आपको कम दामों में राशन मिल सकेगा। इससे पहले हर राज्य के अलग अलग राशन कार्ड होते थे, जिसकी वजह से गरीब लोग अगर काम की तलाश में बाहर जाते थे, तो उन्हे सस्ते दामों पर राशन और अन्य सुविधाएं नहीं मिल पाती थी। लेकिन अब वन नेशन वन राशन कार्ड के आ जाने के बाद यह समस्या पूरी तरह खत्म हो जाएगी।

एक देश, एक राशन कार्ड योजना के लाभ

  • इस योजना के अंतर्गत प्रवासी मजदूरों को लाभ प्राप्त होगा जो गरीब है और रोजगार की तलाश में एक राज्य से दुसरे राज्य में जाकर अवसर खोजते रहते है।
  • सभी लाभार्थी इस एक देश, एक राशन कार्ड योजना के तहत अपना राशन किसी भी राज्य की पीडीएस राशन केंद्र से लेने में पूर्ण रूप से स्वतंत्र रहेंगे।
  • राशन के किसी भी केंद्र पर जाकर इस योजना का लाभ उठाया जा सकता है। किसी एक केंद्र से राशन प्राप्त करने की बाध्यता नही होगी। इससे किसी एक ही राशन के विक्रेता पर ही सारा भार नही पड़ेगा।
  • अच्छी बात यह है कि देश के कई राज्यों में पीडीएस प्रणाली के एकीकृत प्रबंधन की शुरुआत बड़ी तेजी से सरकार द्वारा कर दी गयी है जिसके अंतर्गत आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, कर्नाटक, गुजरात, हरियाणा, झारखंड, केरल, तेलंगाना और साथ ही त्रिपुरा जैसे राज्य सम्मिलित है।
  • इस एक देश, एक राशन कार्ड योजना को केंद्र सरकार समय रहते ही पूरे देश के विभिन्न राज्यो में स्थापित करना चाहती है ताकि ज़्यादा से ज़्यादा लोग इस योजना का लाभ उठा सकें।
  • खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग इस योजना को बढ़ावा देते हुए बड़े स्तर पर काम कर रहे है ताकि अगले माह तक तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के लाभार्थी भी एक देश, एक राशन कार्ड योजना का पीडीएस की दुकानों से तथा कथित लाभ उठा सके।
  • एक देश, एक राशन कार्ड योजना के तहत भ्रष्टाचार के किस्से कम होंगे और हर उपभोक्ता अपने राशन कार्ड की मदद से अन्न को किसी भी पीडीएस की दुकानों से पारदर्शिता व बड़ी ही आसानी से खरीद सकेगा।

खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग एक देश, एक राशन कार्ड योजना के तहत सभी कार्य उद्देश्य पूर्वक संपन्न कर रहे है। 

क्या “वन नेशन वन राशन कार्ड” योजना 2021 में देश के प्रवासी मजदूरों के लिए वास्तव में मददगार होगी?

सरकार की ‘वन नेशन वन राशन कार्ड’ पहल जो काफी हद तक प्रवासी मजदूरों और दैनिक ग्रामीणों को कवर करेगी | इसलिए इस योजना का लाभ होना स्वाभाविक है |

मैं ‘वन नेशन, वन राशन कार्ड’ योजना के लिए कैसे आवेदन कर सकता हूं? ‘वन नेशन, वन राशन कार्ड’ योजना के लिए आवेदन करने के लिए पात्रता मानदंड क्या हैं?

आपको अपने राज्य में नियमित राशन कार्ड के लिए आवेदन करना होगा यदि आप उस राज्य में पात्र हैं। जब आपका राज्य इस योजना में शामिल हो जाता है तो आप राशन कार्ड अपने आप वन नेशन, वन राशन कार्ड ‡योजना में शामिल हो जाएंगे।

“वन नेशन वन राशन कार्ड” क्या है?

वन नेशन वन राशन कार्ड योजना खाद्य सुरक्षा लाभों की पोर्टेबिलिटी की अनुमति देगी।
इसका मतलब है कि गरीब प्रवासी श्रमिक देश के किसी भी राशन की दुकान से रियायती चावल और गेहूं खरीद सकेंगे, जब तक कि उनके राशन कार्ड आधार से लिंक नहीं हो जाते।

आशा है एक देश एक राशन कार्ड स्कीम की सारी जानकारी इस लेख के माध्यम से आपको मिल पाई है । इस योजना में कुछ बदलाब या नए नियम आने की दशा में इस लेख को अपडेट किया जाएगा ।

यह भी पढ़ें

You Might Be Interested In