राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन |PM Modi Health ID Card योजना, ऑनलाइन आवेदन, रजिस्ट्रेशन फॉर्म 2020


क्या है इस लेख में hide
1 राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन (NDHM-Digital Health Mission in Hindi)

राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन (NDHM-Digital Health Mission in Hindi)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत के 74 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन जिसे प्रधानमंत्री मोदी डिजिटल हेल्थ आईडी कार्ड योजना के नाम से भी जाना जा रहा है, की शुरुआत की घोषणा की। यह मिशन भारत के निवासियों के स्वास्थ्य सेवा में समृद्धि लाने के लिए उपयोगी होगी। इस मिशन के अंतर्गत सभी नागरिकों की स्वास्थ्य कुंडली ऑनलाइन दर्ज की जाएगी। सभी नागरिकों को विशेष स्वास्थ्य पहचान पत्र जारी किया जाएगा। आवंटित विशेष पहचान नंबर के ज़रिए मरीज़ की सारी जानकारी इलेक्ट्रॉनिक रूप से सुरक्षित रखी जाएगी। इस स्वास्थ्य पहचान पत्र पर व्यक्ति का नाम, पता, बीमारी, दवा, हॉस्पिटल में एडमिशन, डिस्चार्ज एवं डॉक्टर से जुड़ी सारी जानकारी उपलब्ध होगी। डॉक्टर अपने कंप्यूटर पर हैल्थ आईडी दर्ज करके मरीज़ की मेडिकल हिस्ट्री जान पाएंगे। 

राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन – PM Modi Health ID Card Yojana 2020-21

 राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन को वर्ष 2018 में नीति आयोग द्वारा प्रस्तावित किया गया था। लक्ष्य यह था कि व्यक्ति की स्वास्थ्य संबंधित सारी जानकारी एक जगह पर मौजूद रहेगी जिससे चिकित्सकों को इलाज करने में आसानी रहेगी. इस मिशन के अंतर्गत देश के निवासियों को एक हेल्थ आईडी कार्ड (Digital Health ID Card) दिया जाएगा। यह कार्ड एक हेल्थ अकाउंट की तरह कार्य करेगा। इसमें व्यक्ति के स्वास्थ्य से जुड़ी सारी जानकारी शामिल होगी। 

पीएम् मोदी डिजिटल हेल्थ कार्ड स्कीम (Rashtriya Swasthya Mission) के विशेष बिंदु

  • हेल्थ आईडी कार्ड
  • वयक्तगित स्वास्थ्य रिकॉर्ड
  • ई-फार्मासी
  • डिजीडॉक्टर
  • टेलीमेडिसिन
राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन

कैसे बनाया जाएगा Digital Health Mission का हेल्थ आईडी कार्ड? 

बताया जा रहा है कि हर व्यक्ति के लिए एक यूनीक आईडी बनाई जाएगी। व्यक्ति का। मोबाइल नंबर या आधार कार्ड आधार कार्ड की जानकारी देकर आवेदन किया जा सकता है। यह आईडी बनाना अनिवार्य नहीं है, व्यक्ति चाहे तो यह आईडी बनवाने के लिए इनकार भी कर सकता है। इस निर्णय का उनके उपचार पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

PM Modi Digital Health ID Card Yojana, Apply, Online Registration Form 2020-21 – जानें क्या है आवेदन की प्रक्रिया

पीएम मोदी हेल्थ कार्ड आईडी योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज/जानकारी :

  1. मोबाइल लिंक किया हुआ आधार नंबर
  2. मोबाइल नंबर
  3. उपरोक्त दो विकल्पों में से आपको कोई एक प्रदान करना होगा।

इनके अलावा, आवेदक को नाम, पता और अन्य समान डेटा जैसी बुनियादी जानकारी प्रदान करनी होगी।

जैसा के आपको इस लेख में पहले बताया, आवेदन ऑनलाइन ही स्वीकारे जा रहे हैं | कुछ राज्यों और केंद्र शाषित प्रदेशों में आवेदन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है जो जल्द ही सभी राज्यों में शुरू होने वाली है | आईये विस्तार से प्रक्रिया समझें:

  • सबसे पहले, राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ अर्थात् https://ndhm.gov.in/
  • अब “डिजिटल सिस्टम” अनुभाग पर थोड़ा नीचे स्क्रॉल करें
  • आपको वहां “स्वास्थ्य आईडी” अनुभाग दिखाई देगा, “स्वास्थ्य आईडी बनाएं” पर क्लिक करें
  • उस लिंक पर क्लिक करने से आप दूसरे पेज पर पहुंच जाते हैं, जहां आप “अपनी स्वास्थ्य आईडी अभी बनाएं” बटन देख सकते हैं
  • आगे बढ़ने के लिए आपको उस बटन पर क्लिक करना होगा
  • अब, आपको एक और पेज पर ले जाया जाएगा, जहाँ आपसे आपकी हेल्थ आईडी बनाने के लिए कहा जाएगा। यह आधार जानकारी देकर या बस मोबाइल नंबर प्रदान करके किया जा सकता है|


आधार का उपयोग करके डिजिटल हेल्थ आईडी बनाएं


यह पहला विकल्प है। यदि आप हेल्थ आईडी बनाने के लिए अपने आधार विवरण का उपयोग करना चाहते हैं, तो पहले विकल्प पर क्लिक करें

नोट: आधार का उपयोग करके अपने स्वास्थ्य आईडी कार्ड के लिए पंजीकरण करने में सक्षम होने के लिए, यह अनिवार्य है कि आपका आधार आपके मोबाइल नंबर के साथ जुड़ा हुआ है क्योंकि ओटीपी आधारित सत्यापन होगा

  • जब आप इस विकल्प पर क्लिक करते हैं, तो आपको अपना आधार नंबर दर्ज करने के लिए कहा जाएगा
  • आईडी दर्ज करने के बाद, आपको “I Agree” पर क्लिक करना होगा और फिर “सबमिट” पर क्लिक करना होगा
  • अब, आपको दूसरे पृष्ठ पर ले जाया जाएगा और आपको आधार पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा
  • इस नए पेज पर, प्राप्त ओटीपी दर्ज करें
  • फिर आगे बढ़ने के लिए सबमिट पर क्लिक करें
  • अब ऑनलाइन पंजीकरण या आवेदन फॉर्म खुल जाएगा और आप अपनी अनूठी डिजिटल स्वास्थ्य आईडी के लिए आवेदन कर सकते हैं।

मोबाइल नंबर का उपयोग करके डिजिटल स्वास्थ्य आईडी बनाएं

यह यूनिक हेल्थ आईडी बनाने का विकल्प # 2 है। आप मोबाइल नंबर प्रदान करके और OTP के माध्यम से इसकी पुष्टि कर सकते हैं।

यहाँ कदम हैं:

  • जैसा कि ऊपर बताया गया है, उसी पृष्ठ पर, “मोबाइल के माध्यम से उत्पन्न करें” पर क्लिक करें
  • मोबाइल नंबर दर्ज करें
  • अगले पृष्ठ में, दिए गए स्थान में अपना मोबाइल नंबर दर्ज करें और “सबमिट करें” पर क्लिक करें।
  • फिर, आपको प्राप्त ओटीपी दर्ज करने के लिए कहा जाएगा
  • अब, आपको हेल्थ आईडी कार्ड ऑनलाइन पंजीकरण पृष्ठ पर ले जाया जाएगा, जहां आप “राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन” योजना के तहत अपने अद्वितीय हेल्थ आईडी कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं।

कौन तैयार करेगा राष्ट्रीय Digital Health Mission?

इस मिशन को नेशनल हैल्थ अथॉरिटी (NHA) द्वारा तैयार किया जाएगा। नेशनल हैल्थ अथॉरिटी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय का हिस्सा है। स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन के मुताबिक यह योजना चंडीगढ़, लद्दाख, दादर-नगर हवेली, दमन एंड दीव, पुडुचेरी, अंडमान-निकोबार और लक्षद्वीप में लागू हो चुकी है।

सरकार द्वारा रखी जाएगी निगरानी

NHA के चीफ एक्जीक्यूटिव इंदु भूषण द्वारा बताया गया है  कि राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन की पूरी निगरानी सरकार द्वारा की जाएगी। सरकार द्वारा हेल्थ आईडी और डॉक्टरों का आवंटन किया जाएगा। निजी अस्पताल एवं चिकित्सा संस्थान भी पर्सनल हेल्थ रिकॉर्ड और इलेक्ट्रॉनिक मेडिकल रिकॉर्ड सरकारी निर्देश के अनुसार तैयार कर सकते हैं। 

अगर कोई व्यक्ति सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ उठाना चाहता है तो उन्हें अपना आधार कार्ड अपने हेल्थ आईडी कार्ड से जोड़ना होगा। हेल्थ आईडी कार्ड बनने के बाद व्यक्ति अपने डॉक्टर के साथ अपनी निजी स्वास्थ्य संबंधित जानकारी बांट सकता है। मरीज की स्वास्थ संबंधित जानकारी एक कॉपी डॉक्टर के पास और एक कॉपी खुद उनके पास रहेगी। सरकार इस पर पूरी निगरानी रखेगी। 

PM Modi Rashtriya Digital Swasthya Mission (Health ID Card Scheme) FAQ’s in Hindi

क्या सभी नागरिकों को हेल्थ आईडी कार्ड बनवाना अनिवार्य है?

नहीं आप अपनी मर्जी के मुताबिक हेल्थ आईडी कार्ड बनवा सकते हैं। इसे बनवाने के लिए कोई बाध्यता नहीं है।

राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन की निगरानी कौन करेगा?

राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन की निगरानी सरकार द्वारा की जाएगी।

हेल्थ आईडी कार्ड कौन बनाएगा?

हेल्थ आईडी कार्ड NHA द्वारा बनाया जाएगा।

क्या निजी स्वास्थ्य केंद्र भी इस मिशन का पालन करेंगे?

निजी संस्थानों को छूट दी गई है। अगर वे चाहें तो पर्सनल हेल्थ कार्ड बना सकते हैं।