बाबू जगजीवन राम छात्रावास योजना|babu jagjivan ram chhatrawas yojana in hindi|

BABU JAGJIVAN RAM CHHATRAWAS YOJANA|BJRCY|

प्यारे दोस्तों आज हम आपको अपनी वेबसाइट पर बाबू जगजीवन राम छात्रावास योजना के बारे में बताने जा रहे हैं |बाबू जगजीवन राम छात्रावास योजना अनुसूचित जाति के छात्रों के लिए शुरू की गई है|

हम आपको अपने इस आर्टिकल में बाबू जगजीवन छात्रावास योजना के बारे में पूरी जानकारी देंगे इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें और इसकी पूरी जानकारी प्राप्त करें!!!!!!!!!!!!!!!

योजना के अंतर्गत स्‍वीकार्य केन्‍द्रीय सहायता के अलावा प्रत्‍येक छात्र के लिए चारपाई, मेज और कुर्सी का प्रावधान करने के लिए उसे एक बार 2500 रूपये की सहायता प्रदान की जाती है।

बाबू जगजीवन राम छात्रावास योजना

दोस्तों अब आप सभी के दिमाग में यह प्रश्न आ रहा होगा कि बाबू जगजीवन राम छात्रावास योजना किस प्रकार की योजना है इस योजना का लाभ कौन से विद्यार्थी पा सकते हैं उसके लिए क्या-क्या जरूरी कागजात चाहिए होंगे दोस्तों सबसे पहले हम आपको बताना चाहेंगे बाबू जगजीवन राम छात्रावास योजना क्या है?

योजना का उद्देश्य मिडिल स्कूल, उच्चतर माध्यमिक स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालय में अध्ययनरत अ.जा. बालक और बालिकाओं को आवासीय सुविधा प्रदान करना है।

अनु०जाति एवं अनु०जनजाति कल्याण विभाग द्वारा अनुसूचित जातियों एवं अनुसूचित जनजातियों के छात्र/छात्राओं के लिये छात्रावास संचालित है। इन छात्रावासों में रहने वाले छात्रों को उपस्कर, रसोइया सह सेवक की सेवायें, रोशनी, बर्तन इत्यादि सुविधायें सरकारी खर्च पर उपलब्ध कराई जाती है। प्रत्येक छात्रावास में एक छात्रावास अधीक्षक भी होते हैं जिन्हें सरकार द्वारा मानदेय के रुप में अधीक्षक भत्ता दिया जाता है और जिन पर छात्रावास के सुसंचालन का उत्तरदायित्व रहता है।

बाबू जगजीवन राम छात्रावास योजना पात्रता

  • राज्य सरकारों/संघ राज्य क्षेत्र प्रशासनों, केन्द्रीय तथा राज्य विश्वविद्यालय/संस्थाओं के लिए छात्रावास भवनों के नये निर्माण तथा मौजूदा छात्रावास के विस्तार दोनों के लिए केन्द्रीय सहायता प्रदान की जाती है|
  • जबकि एनजीओ तथा निजी क्षेत्र में मानित विश्वविद्यालय मौजूदा छात्रावास सुविधाओं के केवल विस्तार के लिए केन्द्रीय सहायता हेतु पात्र हैं।
  • छात्रावास के रखरखाव के संबंध में व्यय संबंधित कार्यान्वयन एजेंसी द्वारा अपनी स्वयं की निधि से वहन किया जाएगा।

बाबू जगजीवन राम छात्रावास योजना के लाभ

कार्यान्वयन एजेंसी बालक छात्रावास बालिका छात्रावास
राज्य सरकार 50% 100%
संघ राज्य क्षेत्र प्रशासन 100% 100%
केंद्रीय विश्वविद्यालय/संस्थान 90% 100%
राज्य विश्वविद्यालय/संस्थान 45% 100%
एनजीओ/मानित विश्वविद्यालय 45% 90% (शेष 10 प्रतिशत लागत एनजीओ/मानित विश्वविद्यालय द्वारा वहन की जाएगी।)

शेष 50 प्रतिशत का वहन राज्य सरकार द्वारा किया जाएगा।

शेष 10 प्रतिशत लागत का वहन विश्वविद्यालय/संस्थान द्वारा किया जाएगा।

शेष 55 प्रतिशत लागत का वहन विश्वविद्यालय/संस्थान और राज्य सरकार द्वारा 10:45 के अनुपात में किया जाएगा।

शेष 55 प्रतिशत लागत का वहन एनजीओ/मानित विश्वविद्यालय और राज्य सरकार द्वारा 10:45 के अनुपात में किया जाएगा।

महत्वपूर्ण जानकारी:

  • योजना के अंतर्गत ग्राह्य केंद्रीय सहायता के अतिरिक्त, 2500 रुपए प्रति विद्यार्थी का एकबारगी अनुदान प्रत्येक विद्यार्थी के लिए एक चारपाई, एक मेज और एक कुर्सी का प्रावधान करने के लिए प्रदान किया जाएगा।
  • केंद्रीय सहायता सिर्फ छात्रावास भवन की लागत को पूरा करने के लिए प्रदान की जाती है और ऐसे छात्रावास के रखरखाव की जिम्मेदारी संबंधित राज्य सरकार/संघ राज्य क्षेत्र प्रशासन की होती है।
  • कार्यान्वयन एजेंसी को सहायता अनुदान सीधे जारी किया जाएगा। एनजीओ/मानित विश्वविद्यालय को अनुदान दो किश्तों में जारी किया जाएगा।
  • राज्य सरकार/संघ राज्य क्षेत्र प्रशासन एवं केंद्रीय तथा राज्य विश्वविद्यालय/संस्थान को केंद्रीय सहायता एक ही किश्त में जारी की जाएगी।
  • बालिका छात्रावास के मामले में, छात्रावास कम अनुसूचित जाति महिला साक्षरता वाले क्षेत्रों में अवस्थित होगा। बालिका छात्रावास का निर्माण शैक्षिक संस्थान (जहां तक संभव हो 200 मीटर की परिधि में) के समीप किया जाएगा।
  • प्रत्येक छात्रावास की क्षमता 100 छात्रों के अधिक नहीं होनी चाहिए। तथापि, इसे अपवादस्वरूप मामलों में आवश्यकता और मामले की योग्यता के आधार पर स्वीकार किया जा सकता है और इस पर विचार किया जा सकता है।
  • मिडिल और उच्चतर माध्यमिक स्तर की शिक्षा के लिए नए छात्रावासों के निर्माण पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।
  • विद्यमान छात्रावासों के विस्तार के एनजीओ/मानित विश्वविद्यालय के प्रस्ताव को राज्य सरकार/संघ राज्य क्षेत्र प्रशासन के माध्यम के उनकी सिफारिश के साथ सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय को भेजा जाएगा।
  • मंत्रालय द्वारा परियोजना की स्वीकृति की तारीख से 2 वर्ष की अवधि के भीतर छात्रावास का निर्माण कार्य पूरा किया जाएगा।

बाबू जगजीवन राम छात्रावास योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन

  • आवेदनकर्ता को यहां पर दिए गए वेबसाइट पर क्लिक करना होगा|
  • वेबसाइट पर क्लिक करने के बाद आपके सामने बाबू जगजीवन राम छात्रावास योजना के लिए एप्लीकेशन फॉर्म खुल जाएगा|
  • Annexures
  • इस फोरम में जो भी जानकारी पूछी गई है उसको ध्यानपूर्वक पढ़ें फॉर्म को भरें|
  • सबमिट बटन पर क्लिक करें|
  • इस प्रकार से आपका बाबू जगजीवन राम छात्रावास योजना के लिए आवेदन हो जाएगा|

BJRCY ef-01-01-2008

दोस्तों यदि आप बाबू जगजीवन राम छात्रावास योजना से संबंधित कोई भी प्रश्न पूछना चाहते हैं मुझे कमेंट कर सकते हैं |मैं आपके प्रश्नों का जवाब जरूर दूंगी |कृपया मेरी Facebook पेज को लाइक और शेयर करना ना भूलें!!!!!!!!