बाबा साहेब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना | उत्तर प्रदेश प्रवासी मजदूर लोन, सम्पूर्ण जानकारी


क्या है इस लेख में hide
1 UP Ambedkar Rojgar Protsahan Yojana | उत्तर प्रदेश प्रवासी मजदूर/श्रमिक लोन योजना

उत्तर प्रदेश के नागरिक अब अपने राज्य  से पलायन ना करें इसके लिए यूपी सरकारी की तरफ से एक योजना चलाई जा रही है  इस योजना का नाम है  बाबा साहेब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना। इस योजना के माध्यम से उत्तर प्रदेश के युवाओं को कारोबार करने हेतु सरकार की तरफ से आर्थिक मदद मुहैया कराई जाएगी। योजना में कारोबार के लिए आवेदकों को 1.5 लाख रूपए से लेकर 2 लाख रूपए तक का लोन दिया जाएगा। इसमें SC/ST लोगों समेत सामान्य वर्ग के लोगों को भी सब्सिडी दी जाएगी। अगर अब आप इस  बाबा साहेब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना का लाभ उठाना चाहते हैं या फिर आप  इससे संबंधित किसी भी तरह की जानकारी हासिल करना चाहते हैं, तो हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ें।

UP Ambedkar Rojgar Protsahan Yojana | उत्तर प्रदेश प्रवासी मजदूर/श्रमिक लोन योजना

ऐसा अक्सर देखा जाता है कि युवा काम के सिलसिले में गांव छोड़ कर शहर की तरफ पलायन करने लगते हैं। इससे राज्यों और गांवो का संपूर्ण विकास रूक जाता है। ऐसे में इस तरह के पलायन को रोकने और लोगो को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार ने Amdedkar Rojgar Protsahan Yojana की शुरूआत की है।

इस योजना के जरिए उन युवाओं को जोड़ा जाएगा जो कोरोना महामारी के चलते अपना काम काज नहीं चला पा रहे हैं और शहरों से वापिस आ गए हैं | सरकार का प्रयास है के उन्हें आत्मनिर्भर बना कर उनके लिए कमाई का जरिया तैयार किया जा सके|

उत्तर प्रदेश के इन क्षेत्रों तक पंहुचाया जाएगा लाभ

योजना का लाभ धीरे धीरे प्रदेश के सभी लाभार्थियों को दिया जायेगा। इस योजना से लगभग एक लाख लोग लाभान्वित होंगे |  पहले चरण में दस हजार प्रवासी मजदूरों को स्व-रोजगार का अवसर दिया जायेगा. इसे दूसरे चरण में एक लाख मजदूरों तक ले जाने का प्रयास सरकार का रहेगा.

इस तरह होगा यूपी बाबा साहेब आंबेडकर श्रमिक रोजगार प्रोत्साहन योजना पर काम

Ambedkar Rojgar Protsahan Yojana

योजना को कामयाब बनाने के लिए अलग अलग श्रेणियों को काम दिए गए हैं। इसमें आवदेकों के आवेदन की जांच का काम सबसे पहले किया जाएगा। इनकी जांच ब्लॉक के बीडीओ, जीडीओ पंचायत व एडिओ पंचायत द्वारा की जाएगी। इसके बाद बीडीओ की अध्यक्षता में ही इंटरव्यू लिए जाएंगे। इंटरव्यू में पास होने के बाद ही लोन दिए जाएंगे। ऐसे में अगर किसी आवेदक को उस बिजनेस की पूरी जानकारी नहीं है जिसे वह करना चाह रहा है तो उसे पहले ट्रेनिंग दी जाएगी उस व्यवसाय से जुड़ी हर छोटी बड़ी जानकारी मुहैया कराई जाएगी। ताकि वह कारोबार सही तरीके से कर सके।

UP Baba Saheb Ambedkar Rojgar Protsahan Loan Yojana : क्या है उद्देश्य

इस योजना का उद्देश्य प्रदेश के लोगों/प्रवासी श्रमिकों को आत्मनिर्भर बनाना है, जिसके जरिए वह अपने लिए बेहतर आय आर्जित कर सकें, साथ ही अन्य लोगों को रोजगार मुहैया कराया जा सके। इसके जरिए प्रदेश में होने वाले पलायन को रोका जाने का भी लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

योजना की पात्रता एंव दस्तावेज

  • उत्तर प्रदेश का नागरिक होना अनिवार्य है
  • आवेदक के  पास आधार कार्ड, स्थायी प्रमाण पत्र, शैक्षिक योग्यता दस्तावेज, बैंक खाता, पासपोर्ट साइज फोटो, रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर जैसी तमाम चीजें मौजूद हों।

बाबा साहेब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना का लाभ

  • योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के वह सभी लोग उठा पाएंगे जो बेरोजगार हैं। 
  • पलायन करने वाले लोगों को राज्य में ही कारोबार करने का मौका दिया जाएगा।
  • योजना के जरिेए लोन के रूप में 1.5 लाख रूपए से लेकर 2 लाख रूपए तक की रकम हासिल की जा सकेगी।
  • आवेदकों को ट्रेनिंग दी जाएगी ताकि वह कारोबार सही तरह से कर सकें। 
  • योजना के जरिए लोग आत्मनिर्भर बनना शुरू होंगे।
  • इससे गरीब एंव निर्धन लोगों को भी बिजनेस करने का का मौका मिलेगा।
  • इससे प्रदेश के लोगों को अधिक रोजगार मिलेंगे।

किस तरह के रोजगार के लिए लोन मिलेगा

मोबाइल रिपेयरिंग,किराना स्टोर, दूध डेयरी, कम्प्यूटर व टीवी रिपेयर, पोल्ट्री व्यवसाय, ब्यूटी पार्लर, मछली पालन और फर्नीचर कार्य,इत्र, धूप बत्ती, अगरबत्ती, एग्री प्रोडक्ट्स, फूड पैकेजिंग और गौ आधारित कृषि के उत्पादों, फूल आधारित उत्पादों, कंपोस्ट खाद आदि के कारोबार इत्यादि |

Baba Saheb Ambedkar Rojgar Protsahan Yojana, How to Apply, Online/Offline Registration Form

  1. आवेदन के लिए लोगों को अपने नजदीकी ब्लॉक के कार्यालयों में जा कर बात करनी होगी। 
  2. यंहा से आवेदक को फॉर्म प्राप्त होगा इसमें सारी जानकारी भर कर और अपने दस्तावेज की कॉपी लगा कर फॉर्म सब्मिट करना होग।
  3. इसके बाद आपका फॉर्म जांच के लिए जाएगा, इसमें देखा जाएगा कि आपकी जानकारी सही  है या नहीं, इसके अलावा कई मानको पर फॉर्म की जांच की जाएगी।
  4. जांच के बाद अगर आपका फॉर्म सही पाया गया तो आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाएगा। 
  5. इंटरव्यू में पास होने के बाद ही आपको ट्रेनिंग और लोन दिया जाएगा

सम्बंधित प्रश्नोत्तर

क्या है बाबा साहेब आंबेडकर रोजगार प्रोत्साहन योजना?

यूपी लौटे लाखों की संख्या में प्रवासी श्रमिकों को उनके गांव में ही स्वरोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए इस योजना की शुरुवात की गई है | इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को आत्मनिर्भर बनने के लिए लोन दिया जायेगा |

उत्तर प्रदेश सरकार ने इस योजना के लिए कितना बजट तय किया है?

इस स्कीम के लिए प्रदेश सरकार ने पचास करोड़ का बजट तय किया है|

लोन में कितनी सब्सिडी दी जायेगी?

इस स्कीम के अंतर्गत दिए जाने वाले ऋण में 35 से 50 प्रतिशत सब्सिडी दी जायेगी|

लाभार्थी तय करने के क्या नियम हैं?

योजना के पचास प्रतिशत लाभार्थी अनुसूचित जाति व जनजाति के,  5 प्रतिशत दिव्यांग के लिए होंगे |

आवेदन कैसे करना है ? फॉर्म कहाँ मिलेगा, ऑनलाइन या ऑफलाइन ?

योजना का लाभ उठाने के लिए मजदूरों को बीडीओ (Block Development Officer) से संपर्क करना पड़ेगा | आवेदन फॉर्म, पंजीयन की जानकारी उन्ही द्वारा दी जायेगी |