Breaking News
Home / प्रधानमंत्री सरकारी योजनाएँ 2019 | narendra modi yojana list in hindi / प्रधानमंत्री जन औषधि योजना|ऑनलाइन आवेदन |एप्लीकेशन फॉर्म

प्रधानमंत्री जन औषधि योजना|ऑनलाइन आवेदन |एप्लीकेशन फॉर्म

प्रधानमंत्री जन औषधि योजना|जन औषधि योजना|जन औषधि योजना ऑनलाइन आवेदन| Pradhan Mantri Jan Aushadhi Yojana | Jan Aushadhi Yojana in Hindi|क्या है प्रधानमंत्री जन औषधि परियोजनाजाने कैसे खोले अपना स्टोर|

मार्च तक खुलेंगे 700 मेडिकल स्टोर, आप भी कर सकते हैं अप्लाईहर माह 25 हजार रुपए कमाने का मौका, खोलने का खर्च उठाएगी सरकार

प्यारे देशवासियों आप सभी के लिए अब खुशी का मौका है क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी लेकर आए हैं| योजना जिसका नाम है जन औषधि परियोजना इस योजना का मुख्य उद्देश्य है |ताकि कुछ गुणवत्ता वाली दवाइयां बाजार से कम मूल्य पर मिले |और लोगों का इससे फायदा हो |जो भी लोग अपना दवाइयों का स्टोर खोलना चाहते हैं उनके लिए भी यह एक अच्छा मौका है ताकि वह कम कीमत पर अपने अपना Store खोल सके |और देश की सेवा कर सके तथा आय का साधन भी जुटा सके|

मोदी सरकार ने मार्च 2019 तक देश में 5000 जन औषधि स्टोर खोलने का टारगेट रखा है। अब तक लगभग 4300 स्टोर खुल चुके हैं। सरकार का दावा है कि अगले पांच माह में 700 नए स्टोर खोलें जाएंगे। इसके लिए आप भी अप्लाई कर सकते हैं। यदि आप सरकार की शर्तों पर खरे उतरते हैं तो हर माह आसानी से 25 हजार रुपए कमा सकते हैं। 

Jan Aushadhi Yojana|जन औषधि योजना

IMPORTANAT TO READ :

सरकार उठाएगी पूरा खर्च 

सरकार ने पहले जनऔषधि केंद्र खोलने पर 2.5 लाख रुपए/jan aushadhi registration की सरकारी सहायता देने का ऐलान किया था, लेकिन यह हेल्प अबतक मिल नहीं पा रही है। ऐसे में सरकार ने अब यह तय किया है कि दवा बेचने पर मिलने वाले 20 फीसदी कमिशन के अलावा अलग से 10 फीसदी इंसेंटिव दिया जाए। इसके लिए अब देशभर में पीओएस मशीन बांटे जाएंगे। इसके जरिए हर महीने बैंक अकाउंट में इंसेंटिव भेजा जाएगा। सरकार की योजना है कि इंसेंटिव तब तक दिया जाए, जब तक कि 2.5 लाख रुपए पूरे न हो जाएं। दवा की दुकान खोलने में भी तकरीबन 2.5 लाख रुपए ही खर्च होता है, ऐसे में यह पूरा खर्च सरकार खुद उठा रही है। यह इंसेंटिव 10 हजार रुपए अधिकतम मंथली बेसिस पर मिलेगा। 

इन केंद्रों पर बी-फॉर्मा और एम-फॉर्मा किए हुए युवाओं की सेवाएं ली जाएंगी और इनका एक नया नाम रखा जाएगा। अगर आप बेहद कम खर्चे में अपना एक उद्यम लगाना चाहते हैं तो आपको यह बात जानकर हैरानी होगी कि महज दो लाख रुपए में इन जन औषधि केंद्रों का ठेका प्राप्त कर सकते हैं।

मेरे प्यारे दोस्तों अब आप सोच रहे होंगे हम जन औषधि स्टोन किस प्रकार खोलेंगे? तथा  किस प्रकार ऑनलाइन आवेदन करेंगे? तथा इसके लिए पात्रता क्या होगी ?क्या जरूरी कागजात चाहिए होंगे ?तो घबराने की जरूरत नहीं है हम आपको इस आर्टिकल में पूरी जानकारी देंगे |ताकि आप आसानी पूर्वक अपना जन औषधि स्टोर खोल सके |और आपको किसी भी परेशानी का सामना ना करना पड़े |कृपया मेरे इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें मैं आपको इस में पूरी जानकारी दे रही हूं|

इन औषधि केंद्रों पर होने वाली दवाओं की बिक्री पर 16 फीसदी कमीशन भी दिया जाता है। इस योजना के मुताबिक सरकार की जिम्मेदारी यह होती है कि वह इन केंद्रों को जेनरिक दवाओं की सतत आपूर्ति करती है। नियमों के मुताबिक पहले तो यह योजना सिर्फ सरकार की चुनिंदा संस्‍थाओं तक ही सीमित थी हालांकि अब कोई भी फार्मासिस्‍ट या डॉक्‍टर जन औषधि स्‍टोर खोल सकता है।

जन औषधि  केंद्र कौन खोल सकता है ?

  • कोई भी व्यक्ति या व्यवसायी, अस्पताल, NGO, चैरिटेबल संस्था, फार्मासिस्ट, डॉक्टर, और मेडिकल प्रैक्टिसनर Jan Aushadhi केंद्र खोलने के लिए आवेदन कर सकते है |
  • SC, ST, एवं दिव्यांग आवेदकों को Jan Aushadhi केंद्र खोलने के लिए 50,000 रूपये तक की दवाइयां अग्रिम रूप से दी जायेंगी|
  • जनऔषधि सेंटर खोलने के लिए सरकार ने 3 कैटेगरी बनाई है।
  • पहली कैटेगरी में कोई भी व्यक्ति, बेरोजगार फार्मासिस्ट, डॉक्टर, रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर स्टोर खोल सकेगा।
  • दूसरी कैटेगरी में ट्रस्ट, एनजीओ, प्राइवेट हॉस्पिटल, सोसायटी और सेल्फ हेल्प ग्रुप को स्टोर खोलने का मौका मिलेगा।
  • वहीं तीसरी कैटेगरी में राज्य सरकारों द्वारा नॉमिनेट की गई एजेंसी होगी।
  • दुकान खोलने के लिए 120 वर्गफुट एरिया में दुकान होनी जरूरी है।
  • सेंटर खोलने वालों को सरकार की ओर से 650 से ज्यादा दवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

जन औषधि स्टोर खोलने के लिए जरूरी कागजात

  • आधार कार्ड एवं Pan Card की आवश्यकता होगी |
  • संस्थान/NGO/हॉस्पिटल/चैरिटेबल संस्था को आवेदन करने के लिए आधार कार्ड,  Pan Card, का प्रमाणपत्र एवं पंजीयन प्रमाण पत्र की की आवश्यकता होगी |
  • Jan Aushadhi केंद्र खोलने के लिए आपके पास कम से कम 10 वर्ग मीटर की जगह होनी चाहिए |
  • आप चाहे तो किराये पे भी ले सकते है |

जन औषधि स्टोर खोलने के लिए क्या क्या मिलेगी सहायता :

  • दवाइयों पर प्रिंट कीमत से 16% तक का प्रॉफिट
  • दो लाख रुपयों तक की One Time वित्तीय सहायता
  • जन औषधि स्टोर को 12 महीनों के लिए उसकी sale का 10% अतरिक्त इंसेंटिव दिया जायेगा | अधिकतम 10000 रूपये हर महीने होगा|
  • पूवोत्तर राज्यों/ नक्शल प्रभावित इलाकों/ आदिवासी इलाकों में यह इंसेंटिव 15% और  इंसेंटिव राशी  15000 रुपये हर महीने होगी|

कितना होगा मुनाफा

  • इस योजना के मुताबिक अगर कोई व्यक्ति ये केंद्र खोलता है तो उसे सरकार द्वारा एक साल तक इनकम दी जाएगी|
  • साल में होने वाली सेल की 10 फीसदी राशि सरकार की तरफ से इन्सेंटिव के तौर पर भी दी जाएगी|
  • वहीं अगर कोई नक्सली प्रभावित जगह पर ये स्टोर खोलता है तो उसे 15 फीसदी तक मार्जिन मिलेगा|
  • वहीं इन्सेंटिव राशि नक्सल प्रभावित इलाके में 15 हजार रुपए होगी|

जन औषधि स्टोर खोलने के लिए ऑनलाइन आवेदन ?

  1.  आवेदन कर्ता को सबसे पहले यहां पर दिए गए वेबसाइट पर जाना होगा|

http://janaushadhi.gov.in/

jan aushdhi scheme

  • लिंक पे क्लिक करने के बाद एक नया पेज दिखाई देगा |
  • जहाँ आपको अपना आधार कार्ड नंबर डालना होगा|
    लेकिन सबसे अहम् बात यह है कि आपका मोबाइल नंबर आधर कार्ड से जरूर लिंक होना चाहिए|
  • आधार नंबर वेरीफाई करने के आपको तीन आप्शन मिलेंगे|
  • जिनमे से दो आप्शन वेरीफाई करने के लिए आपको CSC के सेण्टर जाना पड़ेगा|
  • यदि आपके आधार कार्ड में आपका मोबाइल नंबर लिंक है तो आप तीसरा आप्शन चुन सकते है|
  • जिसमे आपको OTP आएगा|
  • OTP  कन्फ़र्म करने के बाद एप्लीकेशन फॉर्म आ जायेगा|

जन औषधि फॉर्म

  • फॉर्म सबमिट करने के बाद BPPI रजिस्ट्रेशन करने के लिए 2000 हजार रूपये का खर्चा आएगा|
  • रजिस्ट्रेशन पूरा होने के बाद VLE को ड्रग लाइसेंस के लिए State Drug Authority या Cheif Medical Office में अप्लाई करना होगा|
  • लाइसेंस मिलने के बाद लाइसेंस की स्कैन कॉपी Health@csc.gov.in पर भेजनी होगी|
  • हेल्थ id पर लाइसेंस भेजने के बाद VLE उसकी जरुरत के अनुसार सम्बंधित distributor को हेल्थ पोर्टल द्वारा दवाइयों का आर्डर दे सकता है|

इस लिंक पर क्लिक करें!!!!!!!!!!! http://janaushadhi.gov.in/list_of_medicines.html 

यह सरकार की वेबसाइट हैं जिसमे आपको लिस्ट मिलेगी जिनमे जेनेरिक दवाओं के नाम मौजूद हैं|

कुछ दवाओ के जेनेरिक नाम, यूनिट, मैक्सिमम रिटेल प्राइज एवम अन्य केटेगरी नीचे दी गई हैं जिन्हें इस वेबसाइट से ही लिया हैं|

क्र. जेनेरिक नाम यूनिट MRP केटेगरी
1 Aceclofenac + Paracetamol (100 mg + 500mg) Tab 10’s 10.00 ANALGESIC/ ANTI-INFLAMMATORY/ MUSCLOSKELETAL DISORDER
2 Aceclofenac 100 mg Tab 10’s 8.00 ANALGESIC/ ANTI-INFLAMMATORY/ MUSCLOSKELETAL DISORDER
3 Aceclofenac Gel 10’s 30 gm ANALGESIC/ ANTI-INFLAMMATORY/ MUSCLOSKELETAL DISORDER
4 Acetaminophen + Tramadol Hydrochloride (325 mg + 37.5 mg) Tab 10’s PUR* ANALGESIC/ ANTI-INFLAMMATORY/ MUSCLOSKELETAL DISORDER
5 Asprin 150 mg Tab 10’s PUR* ANALGESIC/ ANTI-INFLAMMATORY/ MUSCLOSKELETAL DISORDER

जन औषधि स्टोर एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड| jan Aushadhi  application form

फोन नंबर

Bureau of Pharma Public Sector Undertakings of India (BPPI)

http://janaushadhi.gov.in/contact.html

IDPL Corporate office, IDPL Complex,
Old Delhi Gurgaon Road, Dundahera, Gurgaon-122016 (Haryana).
Tel:0124-4223074/4556750, Fax:0124-2340370, website:janaushadhi.gov.in

 Office Order for regarding Store Opening Fees

दोस्तों यदि जन औषधि स्टोर योजना/जन औषधि रजिस्ट्रेशन से संबंधित कोई भी प्रश्न आप पूछना चाहते हैं तो मुझे कमेंट कर पूछ सकते हैं मैं आपके प्रश्नों का जवाब जरुर दूंगी आप मेरे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हो|

Check Also

सोभाग्य योजना |प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना|ऑनलाइन आवेदन|

सोभाग्य योजना|प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना|प्रधानमंत्री मुफ्त बिजली कनेक्शन ऑनलाइन अप्लाई|Pradhan Mantri Sahaj Bijli …

sukanya-samriddhi

सुकन्या समृद्धि योजना 2019| Sukanya Samriddhi Yojana In Hindi

hसुकन्या समृद्धि खाता योजना|सुकन्या समृद्धि योजना की पूरी जानकारी|प्रधानमंत्री सुकन्या योजना 2019|सुकन्या समृद्धि योजना लेटेस्ट न्यूज़ …

572 comments

  1. Mujhe bhi store open karna hai me BA pass hu kya me khol skta hu or kaise or kahan apply karu

  2. मैंने gnmकिया है मे स्टोर खोल सकता हू

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!