Home प्रधानमंत्री सरकारी योजनाएँ 2019 | narendra modi yojana list in hindi अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना महाराष्ट्र|ऑनलाइन आवेदन|एप्लीकेशन फॉर्म

अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना महाराष्ट्र|ऑनलाइन आवेदन|एप्लीकेशन फॉर्म

अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना महाराष्ट्र|ऑनलाइन आवेदन|एप्लीकेशन फॉर्म

अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना महाराष्ट्र|inter caste marriage benefits in marathi|inter caste marriage benefits maharashtra how to apply|inter caste marriage benefits in marathi|महाराष्ट्र अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना 

दोस्तों आज हम आपको अपनी वेबसाइट पर महाराष्ट्र सरकार की तरफ से चल रही अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के बारे में बताने जा रहे हैं ताकि आप भी सभी इस योजना का पूरा पूरा लाभ उठा सकें हम आपको बताना चाहते हैं यदि कोई भी जनरल कैटेगरी का लड़का या लड़की अनुसूचित जाति के लड़का या लड़की से विवाह करते हैं तो उनको ₹300000 की राशि दी जाएगी यह राशि महाराष्ट्र के नवयुवक दंपति को किस प्रकार से मिलेगी इसकी पूरी जानकारी जानने के लिए हमारे पूरे आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें तथा अपनी राशि प्राप्त करें|

अस्पृश्यता निवारणार्थ आंतरजातीय विवाहाला प्रोत्साहन देण्यासाठी शासनाकडून ५० हजारांचे अर्थसाहाय्य दिले जाते. भारतीय घटनेने जातीयता नष्‍ट केली आहे. ती पाळणा-यास शिक्षा तसेच दंडाचीही तरतूद आहे. एकीकडे जातीयवाद्यांना कायद्याचा धाक आणि दुसरीकडे जातीच्‍या भिंती पाडणा-यांना प्रोत्‍साहन असे शासनाचे धोरण आहे.

महाराष्ट्र अंतर्जातीय विवाह पुरस्कार योजना

योजनांतर्गत गैर अनुसूचित जाति का व्यक्ति अनुसूचित जाति के व्यक्ति से विवाह करता है तो उसे ढाई लाख रूपये की प्रोत्साहन राशि के रूप में दिए जाएंगे। योजना का लाभ प्राप्त करने के हेतु वार्षिक आय 3 लाख रूपये निर्धारित है। 

योनजेस पात्र व्यक्ती

या योजनेत अनुसूचित जाती-जमाती, विमुक्त जाती व भटक्या जमाती यापैकी एक व्यक्ती आणि दुसरी व्यक्ती सवर्ण म्हणजे हिंदू, जैन, लिंगायत, शीख या धर्मातील असेल तर त्या विवाहास आंतरजातीय विवाह म्हणून संबोधण्यात येत होते. याला अनुसूचित जातीमधून बौध्द धर्मात धर्मांतर केलेल्यांना अनुसूचित जातीचा दर्जा मिळावा या हेतूने केंद्र शासनाने घटना आदेश १९५० मध्ये सुधारणा करुन अनुसूचित जातीसंबंधी घटना आदेश बौध्द धर्मियांना लागू करण्यात आल्याचे घोषित केले आहे. त्यानुसार अनुसूचित जातीची यादी हिंदू अथवा शिख अथवा बौध्द धर्मियांनाही लागू झालेली आहे. त्यानुसार बौध्द धर्मात धर्मांतर केलेल्या अनुसूचित जातीच्या व्यक्ती या योजनेखालील सवलती मिळण्यास पात्र ठरलेल्या आहेत.

महाराष्ट्र अंतरजातीय विवाह लाभ 

  • 3 लाख रूपये की प्रोत्साहन राशि के रूप में दिए जाएंगे।
  • अस्पृश्यता निवारण रोकने के लिये अन्तर्जातीय विवाह को प्रोत्साहन देना,सरकार का उद्देश्य है|
  • जातिवाद खत्म हो जाए|

महाराष्ट्र अंतर्जातीय विवाह -जरूरी कागजात 

  • आधार कार्ड
  • वोटर कार्ड
  • युवक-युवती की पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक कॉपी

महाराष्ट्र अंतर्जातीय विवाह ऑनलाइन आवेदन

  • पुरस्कार लेने के लिए आवेदनकर्ता को यहां पर दिए गए वेबसाइट पर क्लिक करना होगा |
  • वेबसाइट पर क्लिक करने के बाद आपको अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन हेतु ऑनलाइन आवेदन फार्म दिखाई देगा |
  • इस बारे में सारी जानकारी ध्यानपूर्वक पढ़ें |जानकारी भरते समय ध्यान देना चाहिए |
  • कोई भी जानकारी गलत नहीं होनी चाहिए यदि ऐसा होता है तो आपका फॉर्म गलत माना जाएगा|
  • विवाहित दम्पत्ति में वर अथवा वधु, जिसमें एक सवर्ण हो एवं दूसरा अनुसूचित जाति का हो को योजना का लाभ लेने के लिये जिलाधिकारी को प्रार्थना-पत्र प्रस्तुत करना चाहिये।
  • आवेदन के साथ विवाह, उम्र, जाति एवं मूल निवास प्रमाण पत्र संलग्न होने चाहिये। आवेदन पत्रों के परीक्षण के बाद दम्पत्तियों का चयन किया जाता हैं|

महाराष्ट्र अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना form download

दोस्तों यदि आपको महाराष्ट्र अंतर्जातीय विवाह प्रोत्साहन राशि योजना समझ में नहीं आ रही है तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का जवाब जरूर देंगे कृपया हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर करना ना भूलें हम आपको इसमें अपडेट देते रहेंगे |

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.