Home / राजस्थान सरकारी योजनाएँ 2018-19 | Rajasthan Govt. Schemes in Hindi / राजस्थान अन्नपूर्णा रसोई योजना

राजस्थान अन्नपूर्णा रसोई योजना

राजस्थान अन्नपूर्णा रसोई योजना |annapurna rasoi yojana rajasthan|annapurna rasoi yojana rajasthan menu|अन्नपूर्णा रसोई योजना ||अन्नपूर्णा रसोई योजना राजस्थान

प्यारे राजस्थान वासियों आप सभी को यह जानकर बहुत प्रसन्नता होगी राजस्थान सरकार में अन्नपूर्णा रसोई योजना का आरंभ किया है इस योजना का मुख्य उद्देश्य है राजस्थान के लोगों को भरपेट खाना सस्ते दामों पर मिले|

राजस्थान सरकार ने राज्य के शहरी क्षेत्रों में श्रमिकों, रिक्शावालों, ठेलेवालों, ऑटोवालों, कर्मचारियों, विद्यार्थियों, कामकाजी महिलाओं, बुजुर्गों एवं अन्य असहायों, जरूरतमंद व्यक्तियों को ध्यान में रखकर उनकी सेहत के लिए अन्नपूर्णा रसोई योजना की शुरूआत की है।

इस योजना का शुभारम्भ माननीया मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे द्वारा 15 दिसंबर 2016 को किया गया है। इस योजना में अन्नपूर्णा रसोई वैन के माध्यम से मात्र रु 5 में नाश्ता तथा मात्र रु 8 में पौष्टिक भोजन उपलब्ध करवाया जा रहा है।

योजना के दूसरे चरण में 191 शहरों में 500 अन्नपूर्णा रसोई वैनों के माध्यम से नाश्ता और भोजन उपलब्ध कराया जाएगा।

अन्नपूर्णा रसोई योजना लाभ

  •  रसोई वैन में लाभार्थियों के लिए नाश्ता, दोपहर का भोजन एवं रात्रि का भोजन उपलब्ध होगा। योजना में नाश्ता मात्र 5 रुपये में मिलेगा।
  • नाश्ता के रूप में पोहा, सेवइयाँ, इडली साँभर, लापसी, ज्वार खिचड़ा, बाजरा खिचड़ा, गेहूं खिचड़ा आदि मिलेंगे।
  • इस योजना में भोजन की थाली मात्र 8 रुपये में उपलब्ध है, जिसमें प्रत्येक भोजन सामग्री की मात्रा 450 ग्राम है।
  • भोजन के रूप में दोपहर में दाल-चावल, गेहूं का चूरमा, मक्का का नमकीन खीचड़ा, रोटी का उपमा, दाल- ढ़ोकली, चावल का नमकीन खीचड़ा, कढ़ी-ढ़ोकली, ज्वार का नमकीन खीचड़ा, गेहूं का मीठा खीचड़ा इत्यादि शामिल हैं।
  • योजना में रात्रि भोजन में भी प्रति थाली मात्र 8 रुपये में उपलब्ध है|
  • जिसमें सामग्री की मात्रा 450 ग्राम है।
  • यह सामग्री इस प्रकार है: दाल-ढ़ोकली, बिरयानी, ज्वार की मीठी खिचड़ी, चावल का नमकीन खीचड़ा, कढ़ी-चावल, मक्के का नमकीन खीचड़ा, बेसन गट्टा पुलाव, बाजरे का मीठा खीचड़ा, दाल-चावल, गेहूं का चूरमा इत्यादि।

अब हम आपको districts के बारे में बताएंगे| जिनमें अन्नपूर्णा रसोई योजना को शुरू किया गया है|

District No. of Vans
Jaipur 25
Jhalawar 6
Jodhpur 5
Udaipur 5
Ajmer 5
Kota 5
Bikaner 5
Bharatpur 5
Dungarpur 4
Banswara 4
Pratapgarh 3
Baran 3

टोल फ्री नंबर 1800 270 1063

ज्यादा जानकारी के लिए ऑफिशियल वेबसाइट पर क्लिक करें!!!!!!!!

दोस्तों यदि आप अन्नपूर्णा रसोई से संबंधित कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं कमेंट करके पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का जवाब जरूर देंगे|Facebook पेज को लाइक और शेयर करना ना भूले |

About Arti

Hii Friends! My Name is Arti and i am a B.Tech Graduate in Computer Sciences Stream. I Love blogging and like to share informational articles. I believe in writing original and detailed content. I really feel very proud when you guys appreciate my Writing. I am dedicated to my work fully, You can expect more detailed Articles in the Future.

Check Also

राजस्थान ई-सखी योजना|ऑनलाइन आवेदन|एप्लीकेशन फॉर्म

राजस्थान ई-सखी योजना|ई-सखी मोबाइल एप|Rajasthan E-Sakhi Yojana in Hindi|ई-सखी योजना राजस्थान|ई सखी एप|ई सखी  दोस्तों हम …

मुख्यमंत्री सहायता कोष राजस्थान|ऑनलाइन आवेदन |एप्लीकेशन फॉर्म

मुख्यमंत्री सहायता कोष राजस्थान|मुख्यमंत्री सहायता कोष फॉर्म पीडीएफ|mukhyamantri sahayata kosh form pdf rajasthan|mukhyamantri sahayata kosh …

5 comments

  1. Ye rashi up me kyo nai laga hai ek roshi sambhal distick me lago

    • बंसी लाल बिश्नोई विलेज पोस्ट भालनी

      हमारे राजस्थान के जालोर भीनमाल में तो ऐसी कोई योजना लागू नहीं हुई है माननीय मुख्यमंत्री जी एवं राजस्थान सरकार से निवेदन है कि हमारे जालोर भीनमाल ब्लॉक में ऐसी कोई सरकारी योजनाएं अभी तक हमने नहीं देखी ₹5 में नाश्ता और ₹8 में खाना अन्नपूर्णा योजना हमारे यहां पर लागू क्यों नहीं है अभी तक हमें सूचना भी नहीं मिली है कि ऐसा योजना चालू हुई है करके banshilal bisnoi विलेज पोस्ट भालनी तहसील बागोड़ा जिला जालौर अगर योजना है तो हमें भी सूचित किया जाए

  2. Muje bhi mere shahar me garibo ke liye ye yojna ke taht anpurna rasoi lani h

  3. राजू भील

    यह योजना तो बहुत अच्छी है परंतु खाने का साद स्वाद मिट्टी खा लेना अच्छा है खाना खाने लायक नही है।
    एक निवाला रखते ही थूकने का मन करता है इसपर कोई निगरानी तंत्र नही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!