29 अप्रैल को क्या होगा | Jaaniye Kya Hone wala hai 29 April ko, हो जायेगा दुनिया का अंत ?जानिये सच्चाई


एक तरफ जंहा लोग कोरोना वायरस की मार झेल रहे हैं और इससे उभर भी नहीं पाए हैं ऐसे में सोशल मीडिया पर एक ऐसा वीडियो वायरल हो रहा है जिसमे बताया जा रहा है कि दुनिया का अंत समीप है। इस वीडियो के जरिए यह दावा किया जा रहा है कि एक हिमालय पहाड़ जितना बड़ा ही क्षुदग्रह (asteroid) है जो 29 अप्रैल 2020 को पृथ्वी से टकराएगा और दुनिया का अंत हो जाएगा। हो सकता है कि आपने भी यह वीडियो देखी हो और डर गए हों तो डरिए मत हम आपको बताते है इस दावे की पूरी सच्चाई क्या है।

क्या होगा 29 April को | क्या दुनिया ख़त्म हो जाएगी ?

यह है क्षुदग्रह से जुड़ा सच और झूठ

अगर आपने इस वीडियो को देखा है तो शायद आप इस पर लगे Headlines India के लोगो को देख कर इसे सच मान बैठे हों पर आपको बता दें ऐसा नहीं है। “Mularam Bhakar Jaat Osian” और “अदभुत अनोखा अपराजित” नाम के लोगो ने यह वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर की है और उस पर लिखा है कि 29 अप्रैल को महाविनाश होगा और दुनिया खत्म हो जाएगी। हालांकि इस बात में एक सच्चाई जरूर है कि हिमालय जितना एक क्षुदग्रह है जिसका नाम “52768 (1998 OR2)” है। यह 29 अप्रैल को पृथ्वी से गुजरेगा लेकिन इसकी दूरी पृथ्वी से करीब 40 लाख मील या 62 लाख किलोमीटर दूर होगी।

Daily Express ने पहली बार की थी खबर प्रकाशित

वायरल हुई इस खबर को सबसे पहले Daily Express द्वारा प्रकाशित किया गया था। जिसकी शीर्षक था “क्षुदग्रह चेतावनी”। इस खबर में दिया गया था की नासा ने एक 4 किमी के क्षुदग्रह को ट्रैक किया है- अगर यह पृथ्वी से टकराया तो सभ्यता का अंत हो जाएगा। इस खबर के आते ही सभी के बीच भ्रम की स्थिति पैदा हो गई और लोगो में डर का माहौल पैदा हो गया। लेकिन अब खुद नासा इस दावे को खारिज कर दिया है।

29 April 2020 को क्या होने वाला है ? क्या एस्टेरोइड धरती को तबाह कर देगा

1998 में ही हो गई थी खोज

दरअसल नासा ने इसकी खोज 1998 में की थी इसलिए ही इसका नाम “52768 (1998 OR2)” यह रखा था। बीते लंबे समय से ही नासा इस पर नजर बनाए हुए है। वंही उनका भी यही कहना है कि यह क्षुदग्रह अब तक कई ग्रहो से हो कर गुजरा है और इसकी पृथ्वी से भी दूरी काफी है तो पृथ्वी को क्षुदग्रह से कोई नुकसान नहीं होगा। आपको बता दें कि इससे जुड़े सभी आंकड़े और जानकारी “सेंटर फॉर नियर अर्थ ऑब्जेक्ट स्टडीज” (CNEOS) की वेबसाइट पर मौजूद हैं। अगर आप चाहें तो इन आंकड़ो को वंहा से देख सकते हैं।

CNEOS की वेबसाइट पर उपलब्ध डाटा :

CNEOS ने बताया खबर को फेक

इतना ही नहीं CNEOS के ऑफिसियल ट्विटर अकाउंट से भी ट्वीट किया गया है जिसमे लिखा है। “29 अप्रैल को क्षुद्रग्रह 1998 OR2 पृथ्वी से 3.9 मिलियन माइल/6.2 मिलियन किलोमीटर की दूरी पर गुजरेगा. यह पूरी तरह सुरक्षित है. Daily Express के लेख में जो ‘चेतावनी’ जारी की गई है वह पूरी तरह से गलत है।

Sentry Impact Risk Page पर भी नहीं है ऐसी कोई जानकारी

नासा के “Sentry Impact Risk Page” पर भी इस “52768 (1998 OR2)” क्षुद्रग्रह का कोई जिक्र नहीं है, जो पृथ्वी पर प्रभाव डालने वाली भविष्य की संभावित घटनाओं की निगरानी करता है।

नही होगा जरा भी खतरा

आपको बता दें कि यह क्षुदग्रह पृथ्वी से 1.8 किमी से 4.1 किमी के अनुमानित व्यास वाला है। यह अब तक कई ग्रहो से होकर गुजर चुका है और पृथ्वी से भी इसकी दूरी कोसो दूर ही है। बताया जा  रहा है कि जब यह पृथ्वी से हो कर गुजरेगा तो इसकी रफ्तार करीब 20000 मील प्रति घंटा की होगी। यह पृथ्वी से कोसो दूर से गुजरेगा जिसस पृथ्वी पर किसी भी तरह का असर नहीं होगा.

सम्बंधित प्रश्न और उत्तर

क्या 29 अप्रैल को दुनिया का अंत होगा?

जी नहीं ! बहुत से वीडियो और आर्टिकल्स इस गलत खबर को बढ़ावा दे रहे हैं | हालंकि इस दिन एक महत्वपूर्ण खगोलीय घटना होने जा रही है पर खतरा बिलकुल भी नहीं है, इसलिए निश्चिंत रहे |

29 April 2020 को क्या होने वाला है?

एक एस्टेरॉयड जिसका नाम है “52768 (1998 OR2)” पृथ्वी के काफी पास से होकर गुजरने वाला है|

इस क्षुदग्रह या Asteroid का साइज क्या है?

माना जा रहा है के इसका साइज हिमालय पर्वत जितना है |